पीएम किसान सम्मान योजना के तहत रजिस्टर्ड किसानों को 11वीं किस्त का इंतजार है. सरकार कभी भी ये रकम आपके खातों में भेज सकती है. इसके लिए राज्य सरकारों ने आरएफटी भी साइन कर दिया है. यह रकम अक्षय तृतीया के दिन किसानों के खाते में आने की उम्मीद है.

हालांकि, 11वीं किस्त आने से पहले सरकार ने पीएम किसान योजना में बड़े बदलाव किए हैं. इसके तहत आपको कुछ दस्तावेज अपडेट करने हैं और अगर आप ऐसा नहीं करते तो आप भी किस्त हासिल करने वाले फर्जी लोगों की सूची में आ जाएंगे. अगर ऐसा होता है तो खामियाजा उठाना पड़ सकता है और अब तक मिली सारी किस्तों के पैसे लौटाने पड़ सकते हैं. गौरतलब है कि इस योजना के तहत किसानों को हर 4 महीने में 2,000 रुपये की आर्थिक सहायता मिलती है. इसकी आखिरी किस्त 1 जनवरी को जारी हुई थी.

क्या हैं बदलाव

लाभार्थियों के लिए ई-केवाईसी अपडेट कराना जरुरी हो गया है. सरकार ने एक नया आदेश जारी किया जिसके तहत फर्जी लाभार्थियों से पैसे वसूले जाएंगे. किसान अब पीएम किसान पोर्टल पर जान पाएंगे कि क्या वह इस योजना के लिए पात्र हैं या नहीं. अगर वह नहीं हैं तो उन्हें किस्त लौटानी पड़ेगी. योजना के नियम के तहत खेत पती और पत्नी दोनों के नाम होने चाहिए. अगर वे दोनों एक साथ रहते हैं तो इसका लाभ केवल एक ही को दिया जाएगा. सरकार इस संबंध में कई किसानों को वसूली के लिए नोटिस जारी कर चुकी है.

पीएम किसान वेबसाइट पर जानें पात्रता

आप अगर अब तक गलत तरीके से इस योजना का लाभ लेते आए हैं तो पीएम किसान की वेबसाइट पर जाकर पैसा वापस कर सकते हैं. इसके लिए वेबसाइट पर आपको रिफंड ऑनलाइन पर क्लिक करना होगा. इसके बाद आपके सामने 2 विकल्प आएंगे. पहले में अगर आपने पैसा वापस कर दिया है तो चेक पर क्लिक करें. अगर आपको पैसा वापस करना है तो अपना आधार नंबर, मोबाइल नंबर, या बैंक खाते की डिटेल डालें और डेटा रिक्वेस्ट करें. अगर आप योजना के लिए पात्र होंगे तो “आप रिफंड लिए पात्र नहीं है” मैसेज आएगा नहीं तो आपको रिफंड का अमाउंट शो करेगा.