भारतीय रेलवें के कर्मचारियों के प्रमोशन का रास्‍ता साफ हो गया. रेल मंत्रालय ने कहा है कि जिन लोगों का प्रमोशन रुका है, उन्‍हें तत्‍काल प्रमोट किया जाए. उनका नाम चुनकर विभाग को भेजा जाए ताकि उनका Promotion और Increment हो सके. रेलवे ने कहा कि जिन लोगों को 30 जून 2021 से पहले प्रमोशन मिल गया है, उन्‍हें 1 जनवरी 2022 से Annual Increment मिलेगा. अगर प्रमोशन में देर होगी तो Increment का बेनिफिट भी टाइम पर नहीं मिल पाएगा.

बता दें कि रेलवे कर्मचारियों की यूनियन NFIR ने यह मुद्दा रेल मंत्रालय के सामने उठाया था. NFIR ने कहा था कि ज़ोनल रेलवे और प्रोडक्शन यूनिट्स में कई ऐसी पोस्‍ट है, जो प्रमोशन न होने के कारण खाली पड़ी हैं. इससे रेल कर्मचारियों को समय पर सारे बेनिफिट नहीं मिल पा रहे हैं.

एसोसिएशन के इस लेटर पर रेल मिनिस्‍ट्री ने संज्ञान लिया और आदेश जारी किया कि जो कर्मचारी प्रमोशन से छूट गए हैं, उन्‍हें इसका फायदा जल्‍द से जल्‍द दिया जाए. अप्रैल 2021 में हुई मीटिंग में यह बात सामने आई थी कि कोविड के बावजूद रेलवे ने बीते दो साल में सबसे ज्‍यादा प्रमोशन दिए. हालांकि अगर कुछ लोग छूट गए हैं तो उसकी समीक्षा कर नाम भेजे जाएं.

रेल कर्मचारियों के लिए इससे पहले एक और बड़ी खबर आई थी. वह यह कि सरकार केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्‍ते और महंगाई राहत में बढ़ोतरी पर लगी रोक हटाने के लिए राजी हो गई है. इससे केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स को सितंबर की सैलरी में बढ़ा हुए DA मिलेगा.