कोरोना काल में हो रही कांवड़ यात्रा के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अहम निर्देश दिए हैं. सीएम योगी ने उत्तराखंड, बिहार, उत्तर प्रदेश में जलाभिषेक के लिए श्रद्धालुओं के लिए ये निर्देश दिए हैं. सीएम योगी ने कहा है कि पड़ोसी राज्यों से संवाद स्थापित कर कांवड़ यात्रा को पूरा किया जाए. उन्होंने कहा कि कोविड काल को ध्यान में रखते हुए कांवड़ यात्रा को सुचारू रूप से चलाया जाए.

बता दें इस साल 25 जुलाई से शिवभक्तों की कांवड़ यात्रा शुरू होगी. योगी सरकार हर साल कांवड़ियों के लिए विशेष इंतजाम भी करती रही है. इसके लिए उन्हें जगह-जगह पानी, आराम की सुविधा के साथ ही उनके स्वागत में हेलीकॉप्टर से पुष्प वर्षा आदि भी की जाती है.

बता दें कि उत्तराखंड में इस साल भी कांवड़ यात्रा प्रतिबंधित करने का ऐलान किया गया है. पिछले दिनों उत्तराखंड के डीजीपी ने आठ राज्यों के अधिकारियों के साथ बैठक की. उन्होंने कहा कि यात्रा पर प्रतिबंध है, ऐसे में यहां जो भी आएगा, हो सकता है उसे 14 दिन के लिए क्वारंटीन कर दिया जाए. स्थानीय लोगों के लिए भी यात्रा प्रतिबंधित रहेगी.

बता दें कि साल 2019 में उत्तराखंड लगभग 3 करोड़ कांविड़िए यात्रा पर आए थे. इसमें उत्तर प्रदेश से 27 प्रतिशत कांवड़ियों की संख्या थी. दरअसल कांवड़ यात्रा में दूसरे राज्यों से लाखों की संख्या में कांवड़ियां हर की पैड़ी आते हैं. जहां से गंगाजल लेकर शिवरात्रि पर अपने-अपने क्षेत्रों के शिवालयों में जलाभिषेक करते हैं.