रूस में एक विमान से एयर ट्रैफिक कंट्रोल से संपर्क टूट जाने की वजह से इसके कहीं पर क्रैश होने की आशंका जताई जा रही है. इस विमान में 28 लोग सवार है, इससे पहले 19 जून को भी रूस के दक्षिणी साइबेरिया के किमेरोवो में एक विमान दुर्घटनाग्रस्‍त हो गया था. रूस की समाचार एजेंसी तास के मुताबिक इस हादसे में कम से कम सात लोगों की मौत हो गई थी जबकि चार अन्‍य घायल हो गए थे. दुर्घटनाग्रस्‍त हुआ विमान दो इंजन वाला एल410 था.

स्‍थानीय खबरों के मुताबिक इस विमान के इंजन में आई खराबी के बाद ये क्रैश हो गया था. इससे पहले 6 मई को एयरोफ्लोत के एक विमान में लैडिंग के दौरान लगी भीषण आग से 41 यात्रियों की दर्दनाक मौत हो गई थी, जबकि चार क्रू मैंबर्स समेत 37 लोगों को बचा लिया गया था. मरने वालों में देा बच्‍चे भी शामिल थे. इस विमान में उस वक्‍त 73 यात्री सवार थे. रायटर के मुताबिक विमान ने टेकऑफ के कुछ देर बाद ही आग लग गई थी जिसके बाद इसको इमरजेंसी में लैंड कराया गया था.

हादसे में बचे यात्रियों का कहना था कि बिजली गिरने की वजह से इस विमान में आग लग गई थी. इस हादसे की शुरुआती रिपोर्ट में कहा गया था कि विमान ने आग लगने के बाद लैंड किया था जबकि इंटरफेक्‍स न्‍यूज एजेंसी का कहना था कि विमान की हार्ड लैंडिंग के बाद इसमें आग लगी थी.