भारत में ईंधन की कीमतों के रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंचने के बीच पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री हरदीप सिंह पुरी संयुक्त अरब अमीरात (UAE) के ऊर्जा और उद्योग मंत्री सुहैल मोहम्मद फराज अल और अबू धाबी नेशनल ऑयल कंपनी के एमडी और ग्रुप के चीफ एग्जीक्यूटिव सुल्तान अहमद अल जाबेर से अगले सप्ताह मुलाकात करेंगे. इस दौरान भारत-यूएई सामरिक साझेदारी के समग्र ढांचे के भीतर ऊर्जा सहयोग पर चर्चा होगी.

भारत के प्रमुख कच्चे तेल आपूर्तिकर्ताओं में से एक संयुक्त अरब अमीरात के तेल इंडस्ट्री के प्रमुखों के साथ यह बैठक भारत में पेट्रोल-डीजल की कीमतों के रिकॉर्ड तेजी के बीच हो रही है. भारत अपनी 85 फीसदी तेल मांग और 55 फीसदी प्राकृतिक गैस आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए आयात पर निर्भर है.  पुरी ने पहले कहा था कि अगर कच्चे तेल की ऊंची कीमतों पर अंकुश नहीं लगाया गया तो इसका वैश्विक आर्थिक सुधार पर असर पड़ेगा.

भारत के पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने रविवार को एक बयान में कहा, ” यूएई के ऊर्जा और उद्योग मंत्री सुहैल मोहम्मद फराज अल मजरूई के निमंत्रण पर केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी 15 से 17 नवंबर 2021 तक संयुक्त अरब अमीरात में एक आधिकारिक और व्यावसायिक प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करेंगे. वह अबू धाबी में अंतर्राष्ट्रीय पेट्रोलियम प्रदर्शनी और सम्मेलन (ADIPEC) में भाग लेंगे.”

भारत ने हाल ही में तेल की ऊंची कीमत का मुद्दा उठाया था, जब ओपेक के महासचिव मोहम्मद सानुसी बरकिंडो भारत यात्रा पर थे. भारत सऊदी अरब, कुवैत, कतर, यूएई, बहरीन, अमेरिका और रूस जैसे प्रमुख तेल उत्पादक देशों के साथ इस मुद्दे को उठाता रहा है.