दिल्ली में प्रदूषण के स्तर को कम करने के लिए केजरीवाल सरकार अब एक नई पहल की शुरुआत करेगी. अब केजरीवाल सरकार के मंत्रियों के नेतृत्व में ‘रेड लाईट ऑन गाड़ी ऑफ’ अभियान अब और तेज किया जाएगा. इसके अंतगर्त दिल्ली के मुख्य ‌चौराहों पर दिल्ली सरकार के सभी मंत्री लोगों ‌को लाल बत्ती होने पर वाहन का इंजन बंद करने की अपील करेंगे. दिल्ली सरकार का कहना है कि रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ कैंपेन का मकसद है कि लाल बत्ती ऑन होने पर लोग अपने वाहन को बंद कर दें, जिससे वायु प्रदूषण कम करने में मदद मिले.

दिल्ली में केजरीवाल सरकार के मंत्री और दिल्ली विधानसभा की स्पीकर-उपाध्यक्ष लोगों को वाहन प्रदूषण को लेकर संवेदनशील बनाएंगे. जानकारी के मुताबिक 27 अक्टूबर को मंत्री इमरान हुसैन दिल्ली गेट रेड लाईट पर, 29 अक्टूबर को राजेन्द्र पाल गौतम अफ्रीका एवेन्यू, हयात फ्लाईओवर पर, 2 नवम्बर को दिल्ली विधानसभा की उपाध्यक्ष राखी बिरलान करकरी मोड़ पर, 8 नवम्बर को दिल्ली विधानसभा के स्पीकर राम निवास गोयल मंडौली रेड लाइट नंद नगरी पर, 12 नवम्बर को मंत्री सत्येन्द्र जैन मधुबन चौक पर,‌ 15 नवम्बर को मंत्री कैलाश गहलोत द्वारका मोड़ पर और 18 नवम्बर को उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया इंडिया गेट पर लोगों को जागरूक करेंगे.

क्या कहना है दिल्ली के पर्यावरण मंत्री का

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली के अंदर अपना जो प्रदूषण है, उसको दिल्ली सरकार कम करने की लगातार कोशिश कर रही है. ‘रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ’ कैंपेन के जरिए जो वाहनों का प्रदूषण है, उसके खिलाफ लड़ाई लड़ रहे हैं. ‘रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ’ कैंपेन का मकसद है कि रेड लाइट ऑन होने पर लोगों को अपने वाहन चालू रखने से रोका जाए. ऐसा करने से रेड लाइट पर वाहनों से प्रदूषण नहीं होगा और इससे निश्चित रूप से प्रदूषण से राहत मिलेगी.