Innovative Institute of law का स्थापित संस्थान कानूनी शिक्षा और नवाचार में वर्षों की मजबूत स्थिति लेकर आया है. ज्ञान प्रदान करने में वर्षों की विशेषज्ञता के साथ, Innovative Institute एक विशिष्ट पाठ्यक्रम संरचना में विश्वास करता है जो क्षेत्र के एक प्रतिष्ठित नागरिक के लिए उभरते कानून के प्रासंगिक अपेक्षित मानकों से मेल खाता है. यह पुष्टि करते हुए बहुत गर्व की बात है कि संस्था अपने दृष्टिकोण को पार करने में सक्षम है. आज हम कानूनी बिरादरी में कई सर्वोपरि व्यक्तित्वों का सामना करते हैं जिनकी जड़ें स्कूल से जुड़ी हुई हैं. इससे सम्मान की भावना पैदा होती है कि वे इसकी यात्रा में एक हिस्सा है और सफलता की ओर ले जा सकते है. Inmovative Institute of law  में आयोजित पहली बार तीन दिवसीय नेशनल मूट कोर्ट प्रतियोगिता समारोह का आज अंतिम दिन है.

एक नया दिन, एक नया जोश, टीमें अपने उत्साह के साथ रोमांच को उजागर करने के लिए तैयार हैं. टीमों के प्रतिनिधि अपने-अपने तर्कों के साथ आए हैं. कोर्ट रूम में, राउंड ने प्रतिस्पर्धी टीमों के जबरदस्त सटीक तर्क की गवाही दी. सत्र के दौरान, टीमों ने उच्च स्तर की व्यस्तता और उत्साह दिखाया. निर्णायको द्वारा किए जा रहे सवालो से छात्रों को असली कोर्ट की भांति अनुभव होता है, जिससे वह ना केवल बोलना सीखते हैं बल्कि कोर्ट रूम में माने जाने वाले नियम एवं शिष्टाचार से भी परिचित होते हैं. प्रिलिमनरी राउंड में प्रतिभाग कर रही 21 टीमों में से श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाली 8 टीमों का चयन क्वार्टर फाइनल राउंड के लिए हुआ. क्वार्टर फाइनल राउंड के लिए कुल 4 कोर्ट रूम तैयार किए गए. प्रत्येक टीम ने क्वार्टर फाइनल में एक से बढ़कर एक प्रदर्शन किया एवं श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाली चार टीमों को सेमी फाइनल के लिए चयनित किया गया. सेमी फाइनल एवं फाइनल राउंड 1 मई को आयोजित हुआ. फाइनल राउंड में टीम NMC-13 NMC-17 बतौर जज हरीश चंद्रा मिश्रा (lokayukta ऑफ delhi & former acting chief justice ऑफ jharkhand high court) और जज अंजना मिश्रा ( armed force tribunal, Delhi & former judge,patna high court) ने भारतीय विद्यापीठ विश्वविधालय विजयी टीम को प्रमाण पत्र, ट्राफी,21 हजार रुपये की नकद धनराशि से समानित किया और रनर अप टीम Vivekananda Global studies को प्रमाण पत्र, पुरुस्कर, 11 हजार रुपये की नकद धनराशि से समानित किया और सभी प्रतिभागियों को भी पुरस्कार से समानित किया. साथ ही  judges ने छात्रों को भविष्य के लिए बधाई दी.

प्रोफेसर राहुल सिंह और आनंद सिंह ने समारोह को समापन की ओर ले जाते हुए सभी टीम के सदस्यो की सराहना करते हुए भविष्य के लिए हार्दिक शुभकामनाएं दी और साथ ही सभी अध्यापकगण समिति , विद्यार्थीगण समिति व बाकि समिति को सफलतापूर्वक समारोह समापन के लिए धन्यवाद किया.