देश में बेहतर होती कोविड स्थिति को देखते हुए केंद्र सरकार ने अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए संशोधित एडवाइजरी जारी की है. इससे पहले चिन्हित किए गए ‘एट रिस्क’ और अन्य देशों के सीमांकन को भी खत्म कर दिया है. साथ ही नई एडवाइजरी में यात्रा के बाद 14 दिनों तक स्वयं निगरानी की बात कही गई है. जबकि, इससे पहले सरकार की तरफ से जारी निर्देषों में 7 दिनों के होम क्वारंटीन की बात कही गई थी. नई एडवाइजरी 14 फरवरी से प्रभावी हो जाएगी.

यात्रियों को तय यात्रा से पहले एयर सुविधा पोर्टल पर स्व घोषणा पत्र जारी करना होगा, जिसमें बीते 14 दिनों की यात्रा की जानकारी जरूरी है. साथ ही यात्री को नेगेटिव कोविड RT-PCR रिपोर्ट भी अपलोड करनी होगी. यह रिपोर्ट यात्रा से पहले 72 घंटों से ज्यादा पुरानी नहीं होनी चाहिए. इसके अलावा एडवाइजरी में कहा गया है कि प्रत्येक यात्री को रिपोर्ट की प्रामाणिकता के संबंध में एक घोषणा पत्र भी प्रस्तुत करना होगा. अन्यथा पाए जाने पर यात्री के खिलाफ आपराधिक कार्रवाई हो सकती है.

आगमन पर क्या होंगे नियम?

नई एडवाइजरी के अनुसार, एयरपोर्ट पर मौजूद स्वास्थ्य अधिकारी सभी यात्री थर्मल स्क्रीनिंग करेंगे. यात्री को एयरपोर्ट स्टाफ को ऑनलाइन भरा हुआ स्व घोषित फॉर्म भी दिखाना होगा. लक्षण नजर आने पर यात्री को तत्काल आइसोलेट किया जाएगा और मेडिकल फेसिलिटी में ले जाया जाएगा. वहीं, कोविड पॉजिटिव आने पर कॉन्टैक्ट की पहचान की जाएगी.

इन देशों से आने वाले यात्रियों को मिलेगी राहत

अल्बानिया, एंडोरा, एंगोला, एंटीगुआ और बारबुडा, ऑस्ट्रेलिया, ऑस्ट्रिया, अजरबैजान, बांग्लादेश, बहरीन, बेलारूस, बोत्सवाना, बुल्गारिया, कनाडा, कंबोडिया, चिली, कोलंबिया, कॉमनवेल्थ ऑफ डोमिनिका, कोस्टा रीका, क्रोएशिया, क्यूबा, साइप्रस, डेनमार्क, एस्टोनिया, फिनलैंड, जॉर्जिया, ग्रेनेडा, ग्वाटेमाला, गुयाना, हॉन्गकॉन्ग, हंगरी, आईलैंड, ईरान, आयरलैंड, इजरायल, कजकस्तान, किर्गिज्तान, लात्विया, लेबनान, लिकटेंस्टाइन, मलेशिया, मालदीव्स, माली, मॉरीशिस, मैक्सिको, मोल्डोवा, मंगोलिया, म्यांमार, नामीबिया, नेपाल, न्यूजीलैंड, नीदरलैंड्स, निकारागुआ, नॉर्थ मैसेडोनिया, ओमान, पैराग्वे, पनामा, पुर्तगाल, फिलीपींस, कतर, रोमानिया, सेंट किट्स एंड नेविस, सेन मरीनो, सऊदी अरब, सर्बिया, सिएरा लियोन, सिंगापुर, स्लोवाक रिपब्लिक, स्लोवेनिया, स्पेन, श्रीलंका, स्टेट ऑफ फिलिस्तीन, स्वीडन, स्वित्जरलैंड, थाईलैंड, ब्रिटेन, त्रिनिदाद एंड टोबैगो, तुर्की, यूक्रेन, अमेरिका, वेनेजुएला, वियतनाम, जिम्बाब्वे.