दक्षिणी दिल्ली के एक रेस्तरां में महिला द्वारा साड़ी पहने होने के कारण प्रवेश न दिया जाने के मामले ने तूल पकड़ लिया है. मामला डिफेंस कॉलोनी थाना क्षेत्र के अंसल प्लाजा स्थित एक रेस्ट्रों व बार का है. घटना को लेकर महिला ने सोशल मीडिया पर वीडियो भी शेयर किया है.

रेस्तरां के लोगों का कहना है कि महिला के साथ करीब 19 वर्ष की बेटी थी. इस कारण महिला को शराब सेवन प्रतिबंधित क्षेत्र में प्रवेश करने से रोका गया था. दक्षिण जिला पुलिस अधिकारियों का कहना है कि अभी तक किसी भी पक्ष से कोई शिकायत नहीं मिली है.

दक्षिण जिला पुलिस के मुताबिक, महिला अनिता चौधरी एक चैनल में बड़े पद पर कार्यरत है. वह अपनी बेटी के साथ रेस्तरां में शराब पीने के लिए प्रतिबंधित क्षेत्र में जा रही थी. इस पर कर्मचारियों ने महिला को इसके लिए मना किया तो बहस बढ़ गई. आरोप है कि बहस बढ़ने पर महिला ने कर्मचारियों को थप्पड़ भी मार दिया.

वहीं, अनिता चौधरी ने एक फेसबुक पोस्ट में आरोप लगाया कि उन्हें रविवार को अंसल प्लाजा में एक्विला रेस्तरां में प्रवेश नहीं करने दिया गया, क्योंकि उन्होंने साड़ी पहनी हुई थी. उन्होंने लिखा है कि दिल्ली के एक रेस्तरां में साड़ी को एक स्मार्ट पोशाक नहीं माना जाता है. रेस्टोरेंट का नाम एक्विला है. साड़ी को लेकर बहस की और बहुत बहाने बनाए, लेकिन मुझे रेस्तरां में प्रवेश नहीं करने दिया गया, क्योंकि भारतीय पोशाक  साड़ी एक स्मार्ट पोशाक नहीं है. घटना गत 19 सितंबर की है.

हालांकि, रेस्तरां ने दावा किया कि घटना को गलत तरीके से प्रस्तुत किया गया था. सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद फूड डिलीवरी एप व अन्य कई लोगों ने भी रेस्तरां को लेकर सोशल मीडिया पर अपनी प्रतिक्रियाएं दीं. इसके बाद बुधवार को रेस्तरां को अपना पक्ष स्पष्ट करने के लिए इंस्टाग्राम का सहारा लेना पड़ा. रेस्तरां का आरोप है कि चौधरी द्वारा पोस्ट की गई 10 सेकंड की क्लिप एक घंटे तक चली बातचीत का हिस्सा थी.

रेस्तरां ने लिखा है कि महिला रेस्तरां पहुंची थी. अंदर जगह न होने के कारण उन्हें कर्मचारियों द्वारा विनम्रता से गेट पर प्रतीक्षा करने का अनुरोध किया, लेकिन महिला ने रेस्तरां में प्रवेश किया और हमारे कर्मचारियों से लड़ना और गाली देना शुरू कर दिया. वहीं, महिला ने प्रबंधक को थप्पड़ मारा.

रेस्तरां ने सोशल मीडिया पर घटना के सीसीटीवी फुटेज के साथ-साथ एक अलग वीडियो भी जोड़ा है जिसमें साड़ी पहने महिलाएं रेस्तरां में प्रवेश कर रही हैं. रेस्तरां ने आरोप लगाया है कि चौधरी द्वारा साझा किए गए वीडियो में साड़ी के स्मार्ट कैजुअल पोशाक नहीं होने की टिप्पणी स्थिति से निपटने का एक तरीका था.

रेस्तरां ने घटना को लेकर सोशल मीडिया पर माफी भी मांगी है। रेस्तरां ने  कहा है कि अक्विला एक घरेलू ब्रांड है और टीम का प्रत्येक सदस्य एक गौरवान्वित भारतीय के रूप में खड़ा है। गेट मैनेजर का बयान किसी भी तरह से ड्रेस कोड पर पूरी टीम के दृष्टिकोण का प्रतिनिधित्व नहीं करता है। कंपनी की नीति में कहीं भी यह नहीं कहा गया है कि  एथनिक परिधान में किसी को भी प्रवेश देने से मना करेंगे।