प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज अपनी गुजरात यात्रा के दूसरे दिन भुज में कई विकास परियोजनाओं का शिलान्यास करेंगे. इस दौरान वे भुज में 2001 के विनाशकारी भूकंप में मारे गए लोगों की याद में स्मृति वन मेमोरियल का उद्घाटन करेंगे. इस मेमोरियल को 2001 के भूकंप के दौरान जान गंवाने वाले लगभग 13 हजार लोगों की याद में बनाया गया है. इस वन में इन 13000 लोगों के नाम लिखे हैं. भुज स्मृति वन जाने के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करीब 3 किलोमीटर लंबा रोड शो भी करेंगे. इसके अलावा पीएम मोदी आज 4400 करोड़ रुपये की विभिन्न परियोजनाओं का उद्घाटन भी करेंगे. गौरतलब है कि साल के अंत में गुजरात में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं.

भुज स्मृति वन को 470 एकड़ में बनाया गया है. इसमें 13 हजार लोगों के नाम लिखे हैं. गुजरात में 2001 में जो प्रलयकारी भूकंप आया था उसका अधिकेंद्र भुज ही था. भुज स्मृति मेमोरियल में एक अत्याधुनिक स्मृति वन भूकंप संग्राहालय भी बनाया गया है. यह संग्रहालय 2001 के भूकंप के बाद गुजरात की स्थलाकृति, पुनर्निर्माण की पहल और भूकंप के बाद गुजरात की सफलता की कहानियों को प्रदर्शित करता है. इसके अलावा विभिन्न प्रकार की आपदाओं और इन आपदाओं के लिए भविष्य की तैयारी के बारे में सूचित करता है. स्मृति वन मेमोरियल में 5D सिम्युलेटर की मदद से भूकंप के अनुभव को फिर से जीने के लिए एक ब्लॉक बनाया गया है. इसके अलावा भूकंप में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि देने के लिए भी एक अन्य ब्लॉक भी बनाया गया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भुज में करीब 4400 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करेंगे. वे सरदार सरोवर परियोजना की कच्छ शाखा नहर का उद्घाटन करेंगे. यह नहर कच्छ जिले के 948 गांवों और दस कस्बों में सिंचाई सुविधा और पेयजल उपलब्ध कराने में मदद करेगी. प्रधानमंत्री मोदी सरहद डेयरी के नए स्वचालित दूध प्रसंस्करण और पैकिंग प्लांट, क्षेत्रीय विज्ञान केंद्र, गांधीधाम में डॉ बाबा साहेब अंबेडकर कन्वेंशन सेंटर, अंजार में वीर बाल स्मारक, नखतराना में 2 सबस्टेशन आदि सहित कई अन्य परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे. प्रधानमंत्री भुज-भीमासर रोड सहित 1500 करोड़ रुपये से अधिक की अलग-अलग परियोजनाओं की आधारशिला भी रखेंगे.

शाम को प्रधानमंत्री भारत में सुजुकी के 40 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में गांधीनगर के महात्मा मंदिर कन्वेंशन सेंटर में एक कार्यक्रम को संबोधित करेंगे. वे वहां गुजरात के हंसलपुर में सुजुकी मोटर गुजरात इलेक्ट्रिक व्हीकल के बैटरी मैन्युफेक्चरिंग सेंटर की आधारशिला भी रखेंगे. यहीं से वे हरियाणा के खोरखोडा में मारूति सुजुकी की आगामी मैन्युफैक्चरिंग सुविधा की नींव रखेंगे.