महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमण के नए मामलों में फिर तेजी आई है. लगातार चौथे दिन राज्य में 500 से अधिक नए मामले दर्ज किए गए हैं. रविवार को महाराष्ट्र में 550 केस रिपोर्ट हुए. इनमें से 375 मामले मुंबई में सामने आए. इस दौरान सोलापुर में कोविड से 1 मौत हुई. शनिवार को महाराष्ट्र में 529 और मुंबई में 330 कोविड केस रिपोर्ट हुए थे. इस तरह मुंबई में एक दिन बाद कोरोना के नए केस 14 प्रतिशत बढ़ गए हैं.

महाराष्ट्र में बीते 2 महीने में कोरोना के यह सर्वाधिक मामले हैं. इससे पहले 1 मार्च को राज्य में कोरोना के 675 मामले दर्ज हुए थे. वहीं, मुंबई में 108 दिन बाद सर्वाधिक केस दर्ज हुए हैं. महाराष्ट्र में कोरोना के एक्टिव केस की संख्या 2997 है, जिसमें 2000 सक्रिय मामले अकेले मुंबई शहर में हैं. मुंबई में कोरोना मरीजों के हॉस्पिटलाइजेशन का आंकड़ा लगातार छठे दिन डबल डिजिट में रहा. रविवार को शहर में 17 कोरोना मरीजों को अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा.

हालांकि, राहत की बात यह है कि महाराष्ट्र और खासकर मुंबई में कोरोना केस लोड, जनवरी और फरवरी की तुलना में न के बराबर है. बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) के मुताबिक, कोरोना रिकवरी रेट 98 प्रतिशत ​है. कोविड मामलों के दोगुने होने की दर अनुमानित 2,872 दिन है. वहीं, 22 से 28 मई के बीच ओवरऑल ग्रोथ रेट 0.024 प्रतिशत है. महाराष्ट्र में फिलहाल कोरोना मृत्यु दर 1.87 फीसदी है.

पिछले कुछ दिनों में, मुंबई में कोविड -19 मामलों की संख्या में धीरे-धीरे वृद्धि देखी गई है. अप्रैल के मध्य तक, राज्य की राजधानी दोहरे अंकों में मामले दर्ज कर रही थी. हालांकि, भले ही दैनिक मामलों की संख्या बढ़ रही है, बीएमसी अधिकारियों ने कहा कि चिंता की कोई बात नहीं है, क्योंकि अस्पताल में भर्ती करने की जरूरत बेहद कम पड़ रही है. मुंबई में अब तक 10.64 लाख लोगों को कोरोना संक्रमण से ठीक होने के बाद अस्पतालों से डिस्चार्ज किया जा चुका है.