मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश के बाद उत्तर प्रदेश के धार्मिक स्थलों पर अवैध तरीके से लगाए गए लाउडस्पीकर के खिलाफ यूपी पुलिस का अभियान जारी है. अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी के निर्देश के बाद बुधवर शाम तक  प्रदेश के अलग-अलग जिलों में कुल मिलकर 10923 अवैध लाउडस्पीकर हटवाए गए, जबकि 35221 लाउडस्पीकर  निर्धारित मानकों के अनुरूप करवाई गई. दरअसल, सरकार ने सभी जिलों के पुलिस कप्तानों और कमिश्नरेट से 30 अप्रैल तक अवैध लाउडस्पीकर के खिलाफ अभियान चलाकर रिपोर्ट शासन को भेजने का निर्देश दिया था.

बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तय मानकों के अनुरूप ही धार्मिक स्थलों पर लाउडस्पीकर के इस्तेमाल की बात कही थी. उन्होंने अधिकारियों को निर्देश है कि किसी भी नए धार्मिक स्थल पर लाउडस्पीकर नहीं लगेंगे. जहां पहले से लगे हैं वहां भी  परिसर से बाहर न जाये. इसके अलावा धर्मगुरुओं से बातचीत कर आपसी सहमति से लाउडस्पीकर उतरवाने और आवाज कम करवाने के निर्देश भी दिए थे. जिसके बाद एक्शन में आई पुलिस ने यह अभियान चलाया है.

इन जिलों में उतारे गए लाउडस्पीकर

आगरा जोन 413, मेरठ जोन 1204, बरेली जोन 1070, लखनऊ जोन 2395, कानपुर जोन 1056, प्रयागराज जोन 1172, गोरखपुर जोन 1788, वाराणसी जोन 1366, कानपुर कमिश्नरेट 80, लखनऊ कमिश्नरेट 190, गौतमबुद्धनगर कमिश्नरेट 19 और वाराणसी कमिश्नरेट 170 लाउडस्पीकर उतारे गए.

आपसी सहमति से हटवाया जाए लाउडस्पीकर

अपर मुख्य सचिव आवेश अवस्थी ने पुलिस अफसरों और कमिश्नरेट वाले जिलों के पुलिस कमिश्नरों को निर्देश दिया है कि धर्मगुरुओं से संवाद कर अवैध लाउडस्पीकर को हटवाया जाए. साथ ही जो वैध हैं उनकी आवाज के निर्धारित मानक का अनुपालन सुनिश्चित की जाए. उन्होंने 10 मार्च 2018 और 4 जनवरी 2018 के शासनादेश का हवाला देते हुए कहा है कि नियमों का पालन सुनिश्चित हो. साथ ही यह भी कहा गया है कि ऐसे धर्मस्थलों की सूची तैयार की जाए जहां नियमों की अनदेखी की जा रही है.