देशभर में लाउडस्पीकर को लेकर खड़े हुए विवाद के बाद उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने सख्ती के निर्देश दिए हैं. सरकार की तरफ से हर थाने को निर्देशित किया गया है कि मंदिर हो या फिर मस्जिद जहां भी अवैध रूप से लाउडस्पीकर लगाए गए हैं उन्हें तुरंत उतरवा जाए. साथ ही तय मानक के अनुरूप ही लाउडस्पीकर का प्रयोग धार्मिक स्थलों पर हो. इस संबंध में अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने शासनदेश जारी करते हुए सभी थानों से कहा है कि अभियान चलाकर अवैध और तेज आवाज में बजने वाले लोउद्स्पीकर को तुरंत हटाया जाए. साथ ही 30 अप्रैल तक कार्रवाई की रिपोर्ट शासन को भेजी जाए. ऐसा न करने पर संबंधित थाना इंचार्ज के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

अवनीश अवस्थी ने जिले के पुलिस अफसरों और कमिश्नरेट वाले जिलों के पुलिस कमिश्नरों को निर्देश दिया है कि धर्मगुरुओं से संवाद कर अवैध लाउडस्पीकर को हटवाया जाए. साथ ही जो वैध हैं उनकी आवाज के निर्धारित मानक का अनुपालन सुनिश्चित की जाए. उन्होंने 10 मार्च 2018 और 4 जनवरी 2018 के शासनादेश का हवाला देते हुए कहा है कि नियमों का पालन सुनिश्चित ही. साथ ही यह भी कहा गया है कि ऐसे धर्मस्थलों की सूची तैयार की जाए जहां नियमों की अनदेखी की जा रही है.

125 धार्मिक स्थलों से उतरवाए गए लाउडस्पीकर

उधर एडीजी लॉ एंड आर्डर प्रशांत कुमार ने कहा कि प्रदेश में अब तक 125 धर्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर हटवाए गए हैं. इसके अलावा लगभग 17 हजार लोगों ने खुद ही इसकी आवाज को कम कर दिया है. उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिए हैं कि धार्मिक स्थलों पर मानक के अनुसार ही लोउद्स्पीकर का इस्तेमाल हो. उसकी आवाज सिर्फ परिसर में ही रहे. इसी आदेश के बाद लाउडस्पीकर उतरवाए गए हैं.