दिल्ली में कोरोना वायरस की रफ्तार अब डराने लगी है. स्कूलों समेत दिल्ली-एनसीआर में अचानक बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामलों ने राजधानी में चौथी लहर की दस्तक के संकेत दे दिए हैं. राजधानी में न केवल मामलों में बड़ी उछाल देखने को मिल रही है, बल्कि संक्रमण की दर भी चिंता पैदा कर रही है. दिल्ली में गुरुवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 325 नए मामले सामने आए. पिछले 42 दिनों में कोरोना वायरस की एक दिन में यह सर्वाधिक संख्या है.

दिल्ली में कोरोना वायरस की रफ्तार अब कितनी भयानक हो चुकी है, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि राजधानी में लगातार दूसरे दिन 300 के करीब या उससे अधिक कोरोना वायरस के नए मामले दर्ज किए गए हैं. इससे पहले बुधवार को भी कोविड-19 के 299 केस दर्ज किए गए थे. इस तरह से देखा जाए तो बीते 2 दिनों में दिल्ली में कोरोना वायरस के 624 मामले दर्ज किए गए.

लेटेस्ट आंकड़ा क्या है

दिल्ली में गुरुवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 325 नए मामले सामने आए और महामारी से किसी की मौत नहीं हुई. इसके साथ ही संक्रमण की दर 2.39 प्रतिशत दर्ज की गई. दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी आंकड़ों की मानें तो राष्ट्रीय राजधानी में संक्रमण की दर एक सप्ताह के भीतर बढ़कर 2.39 प्रतिशत हो गई है. फिलहाल, राजधानी में एक्टिव केसों की संख्या 900 पार कर चुकी है. बस राहत की बात यही है कि बीते दो दिनों में एक भी मरीज की मौत नहीं हुई है.

बुधवार को क्या था आंकड़ा

राजधानी में बुधवार को आए मामलों ने सबसे ज्यादा हैरान किया था. दिल्ली में बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 299 नए मामले सामने आए थे, जो बीते 40 दिनों में सबसे अधिक थे. इससे पहले दिल्ली में 4 मार्च को 304 नए केस सामने आए थे. हालांकि, उसके बाद मामलों में गिरावट दर्ज की गई थी. मगर अब कोरोना का कहर एक बार फिर से बढ़ता दिख रहा है. बुधवार को दिल्ली में कोरोना वायरस की संक्रमण दर 2.49 प्रतिशत दर्ज की गई थी.

डीडीएमए ने बुलाई अहम बैठक

दिल्ली में कोविड-19 के मामलों में तेजी को देखते हुए दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण शहर में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के उपायों पर विचार करने के लिए 20 अप्रैल को एक बैठक बुलाई है. दिल्ली सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की बैठक अगले सप्ताह बुधवार को उपराज्यपाल की अध्यक्षता में होगी. बैठक में मौजूदा कोविड स्थिति पर चर्चा होगी, जिनमें मामलों की संख्या में हालिया वृद्धि भी शामिल है. बता दें कि दिल्ली में दो दिनों में इसमें 118 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई थी. इतना ही नहीं, सरकार ने स्कूलों को एक एडवाइजरी भी जारी की है.