रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध अभी बेनतीजा है, लेकिन इसके नतीजे सोने की कीमतों पर दिख रहे हैं. युद्ध शुरू होने पर लग रहा था कि कुछ दिनों में यह खत्‍म हो जाएगा और निवेशक दोबारा सोने से पैसे निकालने लगे थे, लेकिन अब दोबारा बाजार पर जोखिम देख इसमें पैसे लगाने शुरू कर दिए हैं.

सोने को सबसे सुरक्षित निवेश माना जाता है और यही कारण है कि ग्‍लोबल मार्केट में निवेशक दोबारा सोने की तरफ भागना शुरू हो गए हैं. लिहाजा इसकी कीमतों में भी अचानक तेजी आनी शुरू हो गई और बुधवार को ग्‍लोबल मार्केट में सोने का भाव एक महीने के उच्‍चतम स्‍तर पर पहुंच गया. ग्‍लोबल मार्केट में सोने का भाव 0.5 फीसदी बढ़कर 1,977.24 डॉलर प्रति औंस पहुंच गया. यह 14 मार्च को 1,979.95 डॉलर प्रति औंस के बाद सबसे ज्‍यादा भाव है.

2,000 डॉलर के भाव पहुंचेगा गोल्‍ड

ब्रिटेन के कमोडिटी मार्केट एनालिस्‍ट माइकल ह्यूसन ने कहा क‍ि यूक्रेन संकट और महंगाई के दबाव में सोने की कीमतें लगातार बढ़ती जा रही हैं. निवेशकों में शेयर बाजार और अन्‍य निवेश विकल्‍पों को लेकर डर बैठ रहा है, जिसका नतीजा है सोने की मांग लगातार बढ़ रही. ऐसा ही चलता रहा तो आने वाले कुछ दिनों में सोने का भाव वापस 2,000 डॉलर प्रति औंस के स्‍तर को पार कर जाएगा.

अमेरिकी बाजार पर दबाव

अमेरिका में हालिया जारी महंगाई के आंकड़ों में मार्च की खुदरा महंगाई दर 8 फीसदी से ऊपर रही, जिसके दबाव में अमेरिकी फेडरल रिजर्व ने अपनी ब्‍याज दरों को 50 आधार अंक बढ़ाने की बात कही है. इसका असर सीधा सोने की कीमतों पर दिखा और पिछले कुछ दिनों में यह 1 फीसदी से अधिक ऊपर चढ़ चुका है.

सिर्फ सोना ही नहीं अन्‍य कीमती धातुओं के दाम भी लगातार बढ़ते जा रहे. चांदी का हाजिर मूल्‍य 1.2 फीसदी बढ़कर 25.66 डॉलर प्रति औंस पहुंच चुका है, जबकि प्‍लेटिनम 2 फीसदी बढ़कर 984 डॉलर और पैलेडियम 2.9 फीसदी बढ़कर 2,393.46 डॉलर के भाव बिक रहा.

भारत में भी 53 हजार के करीब पहुंचा सोना

ग्‍लोबल मार्केट में सोने की कीमतों में आई तेजी का असर भारत के मल्‍टीकमोडिटी एक्सचेंज (MCX) पर भी दिख रहा है. बुधवार सुबह सोने का वायदा भाव 35 रुपये बढ़कर 52,913 रुपये पहुंच गया. घरेलू बाजार में भी सोना करीब तीन सप्‍ताह बाद 53 हजार के आसपास पहुंचा है. इसी तरह चांदी भी 69 हजार के करीब ट्रेड कर रही थी. बुधवार को MCX पर चांदी का रेट 68,952 रुपये प्रति किलोग्राम था.