भारतीय शेयर बाजार की शुरुआत आज भी नुकसान के साथ हुई और ग्‍लोबल फैक्‍टर्स के दबाव में निवेशकों पर मुनाफावसूली हावी रही. सेंसेक्‍स-निफ्टी सोमवार को भी गिरावट पर बंद हुए थे.

सेंसेक्‍स सुबह 221 अंकों की बड़ी गिरावट के साथ 58,744 पर खुला और कारोबार शुरू किया. निफ्टी ने भी 90 अंकों के नुकसान के साथ 17,585 पर खुलकर ट्रेडिंग शुरू की. निवेशकों की बिकवाली इसके बाद भी जारी रही और सुबह 9.25 बजे सेंसेक्‍स 257 अंक टूटकर 58,708 पर जा पहुंचा, जबकि निफ्टी 85 अंक गिरकर 17,590 पर कारोबार कर रहा था. सेंसेक्‍स में सोमवार को भी 483 अंकों की बड़ी गिरावट दिखी थी.

बंपर मुनाफे से डिमांड में टीसीएस

आईटी क्षेत्र की सबसे बड़ी भारतीय कंपनी TCS ने 2021-22 की अंतिम तिमाही में बंपर मुनाफा कमाया है, जिससे उसके शेयरों की मांग आज बाजार में खूब बढ़ गई. निवेशक टीसीएस के अलावा Delta Corp और Sunteck Realty जैसे शेयरों में जमकर पैसे लगा रहे. इसके अलावा Cipla, Dr Reddy’s Labs, ONGC, NTPC और Sun Pharma जैसी कंपनियों के शेयर भी भारी डिमांड में हैं. इनमें जमकर खरीदारी होने से ये टॉप गेनर की श्रेणी में आ गए.

इसके उलट, Hindalco, Grasim, Tech Mahindra, Wipro और Tata Motor जैसी कंपनियों के शेयरों से निवेशक आज दूरी बना रहे हैं. ये स्‍टॉक भारी बिकवाली के चलते टॉप लूजर की श्रेणी में पहुंच गए हैं. बीएसई मिडकैप और स्‍मॉलकैप के शेयरों में आज 0.3 फीसदी का नुकसान दिख रहा है.

इस साल 64 हजार तक जा सकता है सेंसेक्‍स

रेलिगेयर ब्रोकिंग के वाइस प्रेसिडेंट अजीत मिश्रा का कहना है कि बाजार में आ रही हालिया गिरावट से निवेशकों घबराना नहीं चाहिए. ग्‍लोबल मार्केट में थोड़ी स्थिरता आते ही सेंसेक्‍स-निफ्टी रफ्तार पकड़ेंगे. अनुमान है कि 2022-23 में सेंसेक्‍स 64 हजार का आंकड़ा पार कर सकता है. वहीं, निफ्टी भी 19,500 का स्‍तर छू सकता है.

एशियाई बाजार भी लाल निशान पर खुले

एशिया के अधिकतर शेयर बाजार मंगलवार सुबह नुकसान के साथ लाल निशान पर खुले. सिंगापुर के स्‍टॉक एक्‍सचेंज पर 0.81 फीसदी की गिरावट दिखी तो जापान का निक्‍केई भी 1.29 फीसदी नुकसान के साथ ट्रेडिंग कर रहा है. ताइवान के बाजार में 0.28 फीसदी तो दक्षिण कोरिया के कॉस्‍पी पर 0.99 फीसदी की गिरावट दिख रही है. इतना ही नहीं एशिया के सबसे बड़े शेयर बाजार चीन के शंघाई कंपोजिट पर 0.06 फीसदी का नुकसान दिख रहा. हालांकि, हांगकांग में 0.78 फीसदी का उछाल दिख रहा है.