डिजिटल ट्रांजैक्शन की दुनिया में साइबर ठग जगह-जगह तैयार बैठे हैं. जरा सी चूक हुई नहीं कि आपकी सारी कमाई गायब. कभी एटीएम या क्रेडिट कार्ड के बारे में तो भी बैंक अकाउंट को अपडेट करने की बात कहकर ऑनलाइन ठगी के मामले आए दिन सामने आते रहते हैं. आम आदमी से लेकर खास आदमी तक साइबर ठगों की चिकनी-चुपड़ी बातों की चपेट में आ जाते हैं.

इन तमाम ठगी के मामलों में एक बहुत ही कॉमन मामला है लॉटरी लगने का. साइबर ठग आपको फोन करते हैं कि आपने कार जीती है या लाखों रुपये की लॉटरी निकली है. हालांकि, ज्यादातर लोग फौरन समझ जाते हैं कि फ्रॉड कॉल है. फिर भी कुछ भोले-भाले लोग इनकी बातों में आ जाते हैं और अपनी मेहनत की कमाई लुटा बैठते हैं.

साइबर ठग लोगों को लॉटरी जीतने के नाम पर बेवकूफ बनाते हैं और लॉटरी के पैसे पाने के लिए एक लिंक भेजकर उस पर क्लिक करके यूपीआई पिन डालने के लिए कहते हैं. जैसे ही कोई आदमी इस लिंक पर पिन डालता है तुरंत ही उसके बैंक खाते की डिटेल इन ठगों के पास चली जाती है. इस तरह ये साइबर ठग आपके खाते की सारी रकम अपने खाते में ट्रांसफर कर लेते हैं.

साइबर क्राइम खासकर साइबर आर्थिक क्राइम के बढ़ते मामलों को ध्यान में रखते हुए एनपीसीआई समय-समय पर अलर्ट जारी करता है. एनपीसीआई का कहना है कि पैसे हासिल करने के लिए यूपीआई पिन डालने की जरूरत नहीं होती है. यूपीआई पिन का इस्तेमाल अपने बैंक खाते से किसी और व्यक्ति के बैंक खाते में पैसे ट्रांसफर करने या फिर किसी पेमेंट के लिए किया जाता है. इसलिए हमेशा ध्यान रखें कि यूपीआई पिन का इस्तेमाल करने पर अकाउंट से पैसे कटते हैं, ना कि अकाउंट में पैसे आते हैं.

यूपीआई पिन

ऑनलाइन ट्रांजैक्सन के लिए यूपीआई सर्विस का इस्तेमाल करना होता है. यूपीआई के लिए एक वर्चुअल पेमेंट एड्रेस तैयार करना होता है. इसे अपने बैंक अकाउंट से लिंक करना होता है. वर्चुअल पेमेंट एड्रेस आपका फाइनेंशियल एड्रेस बन जाता है. इसके बाद आपका बैंक अकाउंट नंबर, बैंक का नाम या IFSC कोड आदि याद रखने की जरूरत नहीं होती है. UPI का इस्तेमाल करने के लिए बैंक अकाउंट से आपका मोबाइल नंबर जरूर लिंक होना चाहिए.

कह सकते हैं कि यूपीआई पिन आपके मोबाइल फोन में दर्ज आपके बैंक खातों की चाबी है. अगर यह चाबी किसी और के हाथ लग जाए तो वह आपका अकाउंट खाली कर सकता है.

यूपीआई पेमेंट सिस्टम

यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस यानी यूपीआई को नेशनल पेमेंट ऑफ इंडिया ने तैयार किया है. इससे आप मोबाइल वॉलेट के जरिए किसी और के बैंक खाते में पैसे भेज सकते हैं. आप कहीं से भी किसी भी समय पैसा ट्रांसफर कर सकते हैं.

बचें फ्रॉड से

हमेशा भरोसेमंद ऐप पर ही यूपीआई से भुगतान करें. भीम ऐप सबसे भरोसेमंद डिजिटल पेमेंट ऐप है. अपना यूपीआई पिन किसी के साथ भी शेयर ना करें. किसी अंजान लिंक पर क्लिक ना करें और अंजान लिंक पर यूपीआई पिन का इस्तेमाल तो बिल्कुल भी नहीं करें. यूपीआई पिन को समय-समय पर बदलते रहें.