एचडीएफसी और एचडीएफसी बैंक ने ट्रांसफॉर्मेशनल मर्जर की घोषणा की है. विलय के तहत एचडीएफसी बैंक में एचडीएफसी 41 फीसदी हिस्सेदारी लेगा. इस विलय से बनने वाली इकाई बाजार पूंजीकरण के मामले में भारत की तीसरी सबसे बड़ी कंपनी हो सकती है. एचडीएफसी ने कहा कि प्रस्तावित विलय एचडीएफसी बैंक को अपने आवास ऋण पोर्टफोलियो का बढ़ाने और अपने मौजूदा ग्राहक आधार को बढ़ाने में सक्षम करेगा.

कब तक पूरा होगा विलय

एचडीएफसी-एचडीएफसी बैंक का विलय वित्त वर्ष 24 की दूसरी तिमाही तक पूरा होने का अनुमान है. एचडीएफसी लिमिटेड के चेयरमैन दीपक पारेख ने कहा कि यह बराबरी का मर्जर है. उन्होंने कहा, “हम मानते हैं कि रेरा के इंप्लिमेंटेशन, हाउसिंग सेक्टर के इंफ्रास्ट्रक्चरल स्टेटस व सभी के लिए किफायती आवास जैसी सरकारी योजनाओं के कारण हाउसिंग फाइनेंस के व्यवसाय तरक्की करना सुनिश्चित है.”

वह आगे कहते हैं कि पिछले कुछ वर्षों में, बैंकों और एनबीएफसी के लिए विभिन्न नियमों में सामंजस्य स्थापित किया गया है जिससे यह संभावित साकार हो पाया है. इसके अलावा विलय के बाद वृहद बैलेंस शीट बड़े इंफ्रा लोन्स की अंडरराइटिंग (जब कोई बड़ा वित्तीय संस्थान किसी नुकसान की भरपाई की गारंटी देता है) की अनुमति देगी. इससे अर्थव्यवस्था में ऋण वृद्धि की गति तेज होगी. इसके अलावा किफायती आवास, कृषि क्षेत्र को ऋण व प्राथमिकता वाले क्षेत्रों को ऋण की मात्रा में वृद्धि होगी.

शेयरो में आई तेजी

इस खबर के बाद सोमवार को शुरुआती कारोबार में एचडीफसी, एचडीएफसी बैंक और एचडीएफस लाइफ और एचडीएफसी एसेट मैनेजमेंट के शेयर निफ्टी पर टॉप गेनर्स वाले शेयरों में शामिल हो गए हैं.  निफ्टी पर एचडीएफसी करीब 13.50 फीसदी की बढ़त के साथ 2,785 रुपए प्रति शेयर पर ट्रेड कर रहा है. वहीं, एचडीएफसी बैंक करीब 10 फीसदी की छलांग लगाकर 1,650 के पार पहुंच गया है. इसके अलावा एचडीएफसी लाफ लगभग 6 फीसदी की बढ़त के साथ 583 रुपए पर कारोबार कर रहा है. जबकि एचडीएफसी एसेट मैनेजमेंट के शयर 6.30 फीसदी की तेज़ी के साथ 2,418 रुपए प्रति शेयर पर कारोबार कर रहे हैं. गौरतलब है कि आज मार्केट सकारात्मकता के साथ खुला है. 30 शेयरों वाला बीएसई का सेंसेक्स 2.23 फीसदी या 1,300 से अधिक अंकों की बढ़त बनाकर एक बार फिर से 60,000 अंकों के आंकड़े को पार कर गया है. वहीं, निफ्टी भी 2.02 फीसदी की छलांग लगाकर 18,000 अंकों के पार पहुंच गया है.