देश में इस साल गर्मी के दिनों ने समय से पहले ही दस्‍तक दे दी है. मार्च में ही अधिकतम तापमान मई जैसा बढ़ गया और अब अप्रैल में भी यही हाल रहने वाला है. गर्मी इस बार काफी प्रचंड पड़ने की बात कही जा रही है. इस बीच मौसम विभाग (IMD) ने उत्‍तर भारत, मध्‍य भारत और पश्चिमी भारत में अगले पांच दिनों तक भयंकर लू चलने की संभावना जताई है. इस दौरान अधिकतम तापमान बढ़ेगा और लोगों को गर्मी से जूझना पड़ेगा.

मौसम विभाग ने यह भी जानकारी दी है कि 1 अप्रैल के बाद हालांकि उत्‍तर पश्चिमी भारत के हिस्‍सों में लू से थोड़ी राहत मिल सकती है. लेकिन अन्‍य हिस्‍सों में लू के थपेड़े लोगों को परेशान करेंगे. वहीं अरुणाचल प्रदेश, असम और मेघालय के कुछ हिस्‍सों में 1 से 4 अप्रैल के बीच तेज बारिश होगी. इस दौरान इन राज्‍यों में तापमान में गिरावट दर्ज की जाएगी.

वहीं गुरुवार को मध्‍य प्रदेश के 14 जिलों में लू का प्रकोप रहा. भोपाल, जबलपुर, गुना, खरगोन, राजगढ़, रतलाम, छिंदवाड़ा, मंडला, रीवा, सतना, सिवनी, सीधी, उमरिया और छतरपुर जिले में खजुराहो में तेज लू चली. मौसम विज्ञान केंद्र ने कहा कि शुक्रवार को कुछ इलाकों में लू की स्थिति की संभावना है, लेकिन इसने तीव्र लू का पूर्वानुमान नहीं है.

राजस्‍थान के जयपुर सहित विभिन्न स्थानों पर गुरुवार को अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से ऊपर दर्ज किया गया. राज्य के अनेक हिस्से कई दिन से गर्म हवाओं यानी लू की चपेट में हैं.

मौसम विभाग ने अपने पूर्वानुमान में कहा है कि अप्रैल के दौरान उत्‍तर पश्चिमी भारत और मध्‍य भारत के अधिकांश हिस्‍सों और पूर्वोत्‍तर भारत के हिस्‍सों में सामान्‍य से अधिक तापमान होने की संभावना है. दक्षिण प्रायद्वीप भारत, पूर्वी भारत के कई हिस्‍सों और पूर्वोत्‍तर भारत के आसपास के क्षेत्रों में सामान्‍य से कम अधिकतम तापमान रहेगा.