सरकारी तेल कंपनियों ने उपभोक्‍ताओं को महंगाई का जोरदार झटका दिया है. 1 अप्रैल से एलपीजी सिलेंडर के दाम एक झटके में 250 रुपये बढ़ा दिए हैं.

तेल कंपनियों ने यह बढ़ोतरी कॉमर्शियल गैस सिलेंडर में की है, जबकि रसोई गैस सिलेंडर का इस्‍तेमाल करने वाले करोड़ों उपभोक्‍ताओं पर इसका असर नहीं पड़ेगा. कंपनियों ने 10 दिन पहले ही घरेलू रसोई गैस सिलेंडर की कीमतों में 50 रुपये की बढ़ोतरी की थी, तब कॉमर्शियल गैस सिलेंडर के दाम सस्‍ते हुए थे. हालांकि, अब इसकी कीमतों में अचानक जोरदार इजाफा कर दिया गया है.

दिल्‍ली-मुंबई में इतना पहुंचा रेट

नए वित्‍तवर्ष की शुरुआत में कॉमर्शियल गैस सिलेंडर के दाम 250 रुपये बढ़ जाने से दिल्‍ली में 19 किलोग्राम वाला सिलेंडर अब 2,253 रुपये का हो गया है. 1 मार्च, 2022 को यहां कॉमर्शियल गैस सिलेंडर 2,012 रुपये में भरता था, जो 22 मार्च को दाम घटने के बाद 2,003 रुपये पर आ गया था. मुंबई में अब कॉमर्शियल गैस सिलेंडर का रेट 1,955 रुपये की जगह 2,205 रुपये हो गया है.

देश के अन्‍य महानगरों में भी कीमतों में बड़ा इजाफा हुआ है. कोलकाता में 19 किलोग्राम वाला सिलेंडर 2,351 रुपये में भरेगा जो अभी तक 2,087 रुपये में भरता था. इसी तरह, चेन्‍नई में अब कॉमर्शियल गैस सिलेंडर का रेट 2,138 रुपये के बजाय 2,406 रुपये पहुंच गया है.

नए वित्‍तवर्ष में आम आदमी को राहत

नए वित्‍तवर्ष (2022-23) के पहले दिन 1 अप्रैल को आम आदमी को दोहरी राहत मिली है. तेल कंपनियों ने आज न तो पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कोई इजाफा किया और न ही रसोई गैस सिलेंडर के दाम बढ़ाए हैं. हालांकि, कॉमर्शियल गैस सिलेंडर के दाम बढ़ने से होटल-रेस्‍तरां में खाना अब महंगा हो जाएगा. दिल्‍ली में बिना सब्सिडी वाला 14.2 किलोग्राम का रसोई गैस सिलेंडर 949.50 रुपये में मिल रहा है.

इसके अलावा कोलकाता में यह 976 रुपये, मुंबई में 949.50 रुपये और चेन्‍नई में 965.50 रुपये में मिल रहा है. बिहार की राजधानी पटना में यह एक हजार के ऊपर जाकर 1,39.50 रुपये के भाव मिल रहा है.

साल की शुरुआत में कितना था LPG Cylinder का रेट

2022 की शुरुआत में 1 जनवरी को दिल्‍ली में कॉमर्शियल गैस सिलेंडर का रेट 1,998.50 रुपये था, जो 1 फरवरी को घटकर 1,907 रुपये हो गया. हालांकि, 1 मार्च को इसमें फिर इजाफा हुआ और रेट 2,012 रुपये पहुंच गए. इसी तरह, मुंबई में 1 जनवरी को 1,948.50 रुपये में कॉमर्शियल सिलेंडर मिल रहा था. यह 1 फरवरी को घटकर 1,857 रुपये और 1 मार्च को बढ़कर 1,963 रुपये पहुंच गया था.