हॉकी प्रेमियों के लिए इससे बड़ी खुशखबरी भला क्या हो सकती है. छह साल बाद फिर से देश के सबसे पुराने हॉकी टूर्नामेंट में से एक औबेदुल्ला खां हेरिटेज कप हॉकी टूर्नामेंट का आयोजन सोमवार यानी आज (21 मार्च) से भोपाल में हो रहा है. पहली बार इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट का आयोजन साल 1931 में औबेदुल्ला खां गोल्ड कप के रूप में हुआ था. आखिरी बार इसका आयोजन साल 2016 में हुआ था. पिछले साल टोक्यो अेलंपिक में टीम इंडिया के ब्रॉन्ज मेडल जीतने के बाद खेल और युवा कल्याण विभाग ने मध्य प्रदेश की राजधानी में फिर से इस टूर्नामेंट को आयोजन कराने का फैसला लिया है.

मध्यप्रदेश के मिडफील्डर एश्वर्य प्रताप सिंह सोलंकी विजेता टीम के हिस्सा रहे हैं. वह राज्य के युवा खिलाड़ियों को अपना अनुभव साझा कर सकते हैं. टूर्नामेंट का उद्घाटन सोमवार को सुबह 11:30 बजे तुलसी नगर के मेजर ध्यानचंद हॉकी स्टेडियम में होगा. मुख्मंत्री शिवराज सिंह चौहान और खेल एवं युवा कल्याण मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया इस टूर्नामेंट का शुभारंभ करेंगे.

कुल 12 टीमें लेंगी हिस्सा

टूर्नामेंट में कुल 12 टीमें हिस्सा लेंगी जिनमें इंडियन ऑयल, इंडियन रेलवे, पंजाब एंड सिंध बैंक, आर्मी इलेवन, एमपी हॉकी अकादमी, सीएनजी, जीएसटी एंड सेंट्रल एक्साइज चेन्नई, पंजाब पुलिस, इंडियन नेवी, आर्मी ग्रीन, सेंट्रल सेक्रिटेरियट और मध्य प्रदेश हॉकी एसोसिएशन शामलि हैं. खेल एवं युवा कल्याण विभाग ने खिलाड़ियों सहित उनके टीम ऑफिशियल्स के लिए खाने पीने सहित उनके आने जाने की व्यवस्था की है.

साल 2016 में आखिरी बार हुआ था टूर्नामेंट का आयोजन

इस टूर्नामेंट का आखिरी बार आयोजन साल 2016 में हुआ था. तब इस टूर्नामेंट का आयोजन 5 साल बाद किया गया था. उस समय भारत पेट्रोलियम की टीम चैंपियन बनी थी. उससे पहले साल 2011 में एयर इंडिया ने खिताब अपने नाम किया था.

प्राइज मनी

विजेता टीम को पुरस्कार स्वरूप 11 लाख रुपये दिए जाएंगे जबकि उप विजेता को 7 लाख रुपये मिलेंगे. व्यक्तिगत तौर पर पुरस्कार की बात करें तो प्लेयर ऑफ द मैच को 5 हजार रुपये का चेक दिया जाएगा वहीं प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट को 10 हजार रुपये दिए जाएंगे. बेस्ट गोलकीपर, बेस्ट डिफेंडर, बेस्ट मिडफिल्डर, बेस्ट फॉरवर्ड को एक समान 10-10 हजार रुपये पुरस्कार के तौर पर दिए जाएंगे.