कुछ दिनों पहले आए एग्जिट पोल के नतीजों ने निश्चित तौर पर कांग्रेस के परेशान कर दिया है. ना सिर्फ बड़े स्तर पर बल्कि दिल्ली के नगर ​निगम चुनाव से पहले भी कांग्रेस के सामने परेशानियां आ रही हैं. अब कांग्रेस के अंकित डेढा ने पार्टी को झटका दिया है. इंडियन यूथ कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव व मध्य प्रदेश प्रभारी अंकित डेढा ने आम आदमी पार्टी का हाथ पकड़ लिया है. बुधवार यानी 9 मार्च को अंकित ने आम आदमी पार्टी के कार्यालय में पार्टी के विधायकों की मौजूदगी में पार्टी की सदस्यता ग्रहण की.

बता दें कि मयूर विहार फेज-1 के कोटला गांव निवासी अंकित डेढ़ा अपनी शिक्षा के समय से ही राजनीति में सक्रिय रहे हैं. वे एनएसयूआई के राष्ट्रीय महासचिव व दिल्ली एनएसयूआई के अध्यक्ष के पद पर रह चुके हैं. उन्होंने कई बार मौका मिलने पर कांग्रेस के लिए अहम जिम्मेदारियां संभाली हैं. अंकित की सदस्यता ग्रहण के दौरान आप विधायक दिलीप पांडेय, सहीराम पहलवान व पूर्व विधायक दयानंद चंदीला समेत कई नेता व पदाधिकारी मौजूद थे. पार्टी जॉइन करने के बाद अंकित ने कहा कि आम आदमी पार्टी में उन्हें जो भी जिम्मेदारी दी जाएगी उसका वे ईमानदारी से निर्वहन करेंगे. उन्होंने यह भी कहा कि सीएम अरविंद केजरीवाल की सरकार की उपलब्धियों को बनाए रखना और निगम चुनाव में पार्टी के लिए काम करना फिलहाल उनकी पहली प्राथमिकता होगी.

बता दें कि राज्य निर्वाचन आयुक्त (एसईसी) एस. के श्रीवास्तव बुधवार शाम पांच बजे संवाददाता सम्मेलन के दौरान नगर निगम चुनावों की तारीखों की घोषणा करने वाले थे. लेकिन यह घोषणा नहीं की गई. श्रीवास्तव ने संवाददाताओं से कहा, ‘मुझे शाम 4.30 बजे केंद्र सरकार से कुछ संदेश मिला है, इसलिए मैं अभी तारीखों की घोषणा करने में समर्थ नहीं हूं’. एसईसी ने कहा, ‘हम तारीखों की घोषणा करने वाले थे लेकिन अब उन्हें घोषित करने में 5-7 दिन और लगेंगे’.