पीएम किसान सम्मान निधि योजना की अगली किस्त का किसानों को बेसब्री से इंतजार है. केंद्र सरकार की इस योजना के माध्यम से किसानों को सीधे उनके अकाउंट में पैसा भेजा जाता है. हर किसान के अकाउंट में सालाना 6,000 रुपये ट्रांसफर किए जाते हैं. सरकार इन पैसों को 3 बराबर किस्तों में भेजती है. यानी केंद्र सरकार हर किस्त में 2,000 हजार रुपये ट्रांसफर करती है.

अब तक सरकार इस योजना के तहत रजिस्टर्ड किसानों के अकाउंट में 10 किश्तों में पैसे भेज चुकी है. इसकी अगली किश्त अप्रैल महीने में आने की संभावना जताई जा रही है. लेकिन अब नए नियमों के मुताबिक, ई-केवाईसी करना जरूरी होगा. इसे नहीं करने पर किसानों को लाभ नहीं मिलेगा.

ई-केवाईसी पूरा करें

ऐसे में अगर आप 11वीं किश्त के पैसे पाना चाहते है तो 31 मार्च 2022 से पहले ई-केवाईसी पूरा कर लें. वरना बिना इसके अप्रैल-जुलाई की 2000 रुपये की किश्त अकाउंट में नहीं आएगी. ई-केवाईसी किसान खुद भी कर सकते हैं. अगर मोबाइल नंबर आधार से लिंक है तो पीएम-किसान के वेब पोर्टल पर जाकर ई-केवाईसी का ऑप्शन सेलेक्ट करना होगा. पोर्टल पर उनसे आधार नंबर मांगा जाएग. पोर्टल पर दिख रहे इमेज टेक्सट को भरकर सर्च ऑप्शन क्लिक करना होगा.

इसके बाद मोबाइल नंबर दर्ज करना है. जिसे भरकर गेट ओटीपी पर क्लिक करना होगा. किसान के मोबाइल पर एक OTP भेजा जाएगा जिसे पोर्टल पर भरकर सब्मिट बटन पर क्लिक करने के बाद ई-केवाईसी की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी. यदि किसान का मोबाइल नंबर आधार से लिंक नहीं है तो उन्हें जन सुविधा केंद्र जाकर बायोमेट्रिक ई-केवाईसी करानी पड़ेगी.

किनको मिलेंगे 4,000 रुपये

नए साल की शुरआत के साथ ही 1 जनवरी 2022 को किसानों को इस योजना की 10वीं किश्त के 2000 रुपये मिले थे. अब जल्दी ही पीएम किसान योजना में 11वीं किस्त आने वाली है. ऐसे में योजना के लाभार्थियों के पास एक खास मौका है और वे इस बार 4000 रुपये पा सकते हैं. ये मौका उन किसानों को मिलेगा जो इस योजना के लिए योग्य तो हैं, लेकिन अभी तक अप्लाई नहीं कर पाए हैं. अगर नए किसान 31 मार्च, 2022 से पहले पीएम किसान योजना के लिए अपना रजिस्ट्रेशन कराते हैं, तो उन्हें दो किश्त के पैसे एक साथ मिलेंगे. यानी वे 11वीं किश्त के साथ ही दसवीं किश्त के 2,000 रुपये मिलाकर कुल 4,000 रुपये पा सकते हैं.