रूस-यूक्रेन के बीच जारी युद्ध  ने Gold की कीमतों को डेढ़ साल की ऊंचाई पर पहुंचा दिया है. मल्‍टी कमोडिटी एक्‍सचेंज पर बुधवार को सोने का भाव 55 हजार के स्‍तर को भी पार कर गया.

रूस पर अमेरिका व अन्‍य सहयोगी देशों के प्रतिबंध की वजह से ग्‍लोबल मार्केट में पीली धातु के दाम लगातार बढ़ रहे हैं. इसका असर भारतीय बाजार पर भी दिखा और MCX पर सुबह 9.15 बजे सोने का वायदा भाव 1.64 फीसदी उछलकर 55,111 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया. यह डेढ़ साल का मजबूत स्‍तर है. चांदी का वायदा भाव भी 2.19 फीसदी की मजबूती के साथ 72,950 रुपये प्रति किलोग्राम पहुंच गया.

ग्‍लोबल मार्केट में कीमतें रिकॉर्ड के करीब

ग्‍लोबल मार्केट में सोने की कीमतें अपने रिकॉर्ड स्‍तर के करीब पहुंच गईं हैं. ग्‍लोबल मार्केट में हाजिर सोना (Spot gold) 0.6 फीसदी की कमजोरी के साथ 2,040.07 डॉलर प्रति औंस पर बना हुआ है. इससे पहले यह 2,069.89 डॉलर के स्तर को छू गया था. अगस्त, 2020 में ग्‍लोबल मार्केट में सोने का भाव 2,072.49 डॉलर प्रति औंस के साथ रिकॉर्ड ऊंचाई पर था.

56,580 रुपये तक जा सकती है कीमत

एक्‍सपर्ट का कहना है कि सराफा बाजार में सोने की कीमत अगले कुछ दिनों में 56 हजार को पार कर सकती है. अगर ग्‍लोबल मार्केट में सोने के भाव 2,035.97 के स्तर से ऊपर ट्रेड करता रहा तो भारतीय बाजार में यह 56,580 रुपये तक पहुंच सकता है. कोरोना महामारी की पहली लहर में भी सोने का रेट 55 हजार के पार गया था.

सभी देश बढ़ा रहे गोल्‍ड का भंडार

रूस-यूक्रेन संकट की वजह से दुनियाभर की अर्थव्‍यवस्‍थाओं पर संकट दिख रहा है और सभी देश सोने की जमकर खरीदारी कर रहे हैं. दुनिया के सबसे बड़े गोल्ड बैक्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ETF) SPDR Gold Trust की सोने की होल्डिंग बढ़कर 1,067.3 टन हो गई, जो मार्च 2021 के बाद सबसे ज्यादा है. हालांकि, निवेशकों को अभी सोने की खरीदारी करनी चाहिए, क्‍योंकि कीमतें आगे भी बढ़ने की उम्‍मीद है.