यूक्रेन में जारी जंग के बीच भारत सरकार अहम रोल निभा सकती है. सरकार के टॉप सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार सुबह यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की से और दोपहर को रूसी राष्ट्रपति पुतिन से बात करेंगे. कुछ दिन पहले भी रूस यूक्रेन संकट पर पीएम मोदी ने राष्ट्रपति पुतिन से बात की थी.

यूक्रेन पर रूस के हमलों का आज 12वां दिन है. इस दौरान रूसी सेना यूक्रेन के कई शहरों को तबाह कर चुकी है. यूक्रेन के राष्ट्रपति पहले ही भारत से अपील कर चुके हैं कि भारत रूस से बात करे और हमले रोकने में मदद करे.

पीएम मोदी की तरफ से यह पहल तब हुई है, जब युद्धग्रस्त यूक्रेन से करीब 15 लाख लोग बाहर निकल चुके हैं. इस बीच, भारत यूक्रेन में फंसे नागरिकों को निकालने में लगा हुआ है. इसके लिए ऑपरेशन गंगा चलाया जा रहा है. यह ऑपरेशन अपने अंतिम चरण में है.

इससे पहले पीएम मोदी ने व्लादिमीर पुतिन से बात करके भारतीय नागरिकों को सुरक्षित निकलने देने की अपील की थी. इस अपील पर अमल करते हुए रूस ने खारकीव में 6 घंटे के लिए हमले रोक दिए थे और भारतीयों को निकलने के लिए रास्ता दिया था.

अब तक 15900 भारतीय स्वदेश लौटे

ऑपरेशन गंगा के तहत सोमवार को 7 फ्लाइट से 1200 स्टूडेंट भारत आएंगे. रविवार को 11 फ्लाइट्स से 2135 भारतीय वतन लौटे थे. सिविल एविएशन मिनिस्ट्री के मुताबिक, अब तक 15 हजार 900 भारतीय नागरिक देश लौट चुके हैं. ऑपरेशन गंगा 22 फरवरी को शुरू हुआ था.