देश की सुरक्षा में जुटे जवानों के लिए उम्र और हालात मायने नहीं रखते. कितने भी मुश्किल हालात हों, ये जवान हमेशा सीमा पर मुस्तैद रहते हैं. देश सेवा में डूबे इन जवानों की वीरता और समर्पण के किस्से हर रोज साझा किए जाते हैं. इसी क्रम में भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) ने भी एक वीडियो सामने आया है, जो सबूत देता है कि कोई भी हालात इन वीर सपूतों को कर्तव्य से नहीं रोक सकते.

ITBP की तरफ से एक वीडियो साझा किया गया, जहां एक अधिकारी कड़ी ठंड में कसरत करते हुए नजर आ रहे हैं. ITBP ने लिखा, ’55 साल के ITBP कमांडेंट रतन सिंह सोनल ने 17 हजार 500 फीट की ऊंचाई पर लद्दाख में -30 डिग्री सेल्सियस ठंड में एक बार में 65 पुश अप्स पूरे किए.’

हालांकि, यह पहली बार नहीं है, जब ITBP ने खराब मौसम को मात दी हो. कुछ दिनों पहले ही एक और वीडियो सामने आया था, जहां एक दल बर्फ की चादर को चीर कर रास्ता बनाता हुआ नजर आ रहा है. ITBP ने लिखा था, ‘हिमाद्रि तुंग श्रृंग से प्रबुद्ध शुद्ध भारती, स्वयं प्रभा समुज्ज्वला स्वतंत्रता पुकारती…’ आगे लिखा है, ‘ITBP के हिमवीर उत्तराखंड हिमालय के आसपास 15 फीट की ऊंचाई पर शून्य से नीचे तापमान का सामना कर रहे हैं. शौर्य, दृढ़ता, कर्मनिष्ठा.’

गणतंत्र दिवस पर 18 कर्मियों को मिला था पुलिस सेवा पदक

भाषा के अनुसार, ITBP के 18 कर्मियों को गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर वीरता पदक सहित विभिन्न पुलिस सेवा पदकों से अलंकृत किया गया था. केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा मंगलवार को जारी एक अधिसूचना में कहा गया है कि तीन कर्मियों को वीरता के लिए पुलिस पदक (पीएमजी) से सम्मानित किया गया है, तीन को विशिष्ट सेवा के लिए राष्ट्रपति पुलिस पदक और 12 को सराहनीय सेवा के लिए पुलिस पदक से सम्मानित किया गया था.