साइबर क्राइम से जुड़ी शिकायतें दर्ज कराने का हेल्पलाइन नबंर बदल गया है. ऑनलाइन फ्रॉड से जुड़ी किसी भी घटना की शिकायत दर्ज कराने के लिए अब आपको हेल्पलाइन नंबर 155260 के स्थान पर 1930 डायल करना होगा. गृह मंत्रालय के ट्विटर हैंडल साइबर दोस्त ने यह जानकारी शेयर की है.

जैसे-जैसे इंटरनेट का इस्तेमाल बढ़ रहा है, उसी स्पीड से साइबर फ्रॉड के मामले भी बढ़ रहे हैं. साइबर ठग नए-नए हथकंडे अपनाकर लोगों को ठग रहे हैं. बैंक से लेकर तमाम फाइनेंशियल सर्विस मुहैया कराने वाले और सरकार समय-समय पर लोगों को ऑनलाइन फ्रॉड को लेकर अलर्ट करते रहते हैं.

सरकार ने साइबर फ्रॉड से जुड़े मामलों के लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए हैं. दिल्ली पुलिस ने भी ऑनलाइन फ्रॉड से जुड़ी शिकायतों के लिए नया हेल्पलाइन नंबर 1900 शेयर किया है. अगर आपके साथ इंटरनेट से जुड़ा कोई क्राइम हुआ है तो आप इस नंबर पर कॉल करके अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं. इसके अलावा आप साइबर क्राइम की वेबसाइट http://www.cybercrime.gov.in पर भी अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं.

बढ़ रही हैं घटनाएं

डिजिटलाइजेशन का दौर में साइबर अपराधों की संख्या में जबरदस्त तेजी देखी जा रही है. जालसाज लोगों को ठगने के लिए नए-नए हथकंडे अपनाते रहते हैं. ऐसे में आपको काफी ज्यादा सावधान रहने की जरूरत है. लोगों को ठगने के लिए जालसाल सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का सहारा लेते हैं. क्योंकि, लोग अपना ज्यादा समय सोशल मीडिया साइट्स पर ही गुजारते हैं. साइबर अपराधी सोशल मीडिया साइट्स पर कई तरह के डिस्काउंट का लालच दिखाकर लोगों को लूटते हैं.

इन बातों का रखें ध्यान

सोशल मीडिया पर बंपर डिस्काउंट, लॉटरी लगने या फिर इनाम जीतने वाले विज्ञापनों के झांसे में ना आएं. अगर आप डिस्काउंट का विज्ञापन देखने के बाद कुछ शॉपिंग का प्लान कर भी रहे हैं तो सबसे पहले उस वेबसाइट के बारे में अच्छे से पता कर लें. ध्यान दें कि वेबसाइट की रिटर्न पॉलिसी क्या है. अगर कुछ भी डाउटफुल लगे तो शॉपिंग ना करें.

अगर आप कोई सामान ले रहे हैं तो कैश ऑन डिलीवरी का ऑप्शन ही चुनें. इससे आपके बैंक की डिटेल्स साइबर अपराधियों के पास नहीं पहुंच पाएगी.