देश भर में कोरोना महामारी के चलते हुए बेरोज़गारी बहुत ज़्यादा बढ़ गयी है और हज़ारों- लाखों लोगों पर इसका असर हुआ है. इसी को ध्यान में रखते हुए सामाजिक संस्थाओं ने अपनी ज़िम्मेदारी उठाते हुए बेरोजगार लोगों को रोज़गार देने का कार्य शुरू किया है. आईजीएसएस संस्था ने भी सोफ़िया एजुकेशनल वेलफेयर सोसायटी के साथ मिलकर 36 परिवारों को ठेले मुहैया कराने की ज़िम्मेदारी ली है.

सोफिया एजुकेशनल वेलफेयर सोसायटी और इंडियन ग्लोबल सोशल सोसायटी ने उत्तर पूर्वी दिल्ली के 36 परिवारों को हाथ से चलने वाले ठेले बांटने का काम किया. इन ठेलों को बांटें जाने की सबसे बड़ी वजह ये है कि ठेलों का इस्तेमाल करते हुए ये सभी लोग अपने आपने रोजगार को और ज़्यादा बेहतर तरह से कर पाएंगें. इसके अलावा भी सब्ज़ी बेचने वाले,अंडे बेचने औए मूंगफली बेचने के लिए लोगों को इन ठेलों की मदद मुहैया कराई गई है.

इस मुहिम के द्वारा मदद पाने वाले मो. मुन्ना बताते हैं कि “मैं सब्ज़ी बेचता हूँ मगर मुझे बाजारों में ज़मीन पर बैठ कर सब्ज़ियां बेचनी पड़ती थी. अब मुझे ये ठेली मिल गयी है,अब ठेली पर रख कर मैं सब्ज़ी बेचूंगा और गली गली में जाकर मैं थोड़े से और ज़्यादा पैसे भी कमा सकता हूँ. सोफिया संस्था और साथ में आईजीएसएस संस्था का हमारी मदद करने के लिए बहुत बहुत बहुत शुक्रिया”.

बता दें, इन ठेलों से जिन परिवारों को लाभ मिला है वो शिव विहार, मुस्तफाबाद , जनता मज़दूर कॉलोनी, वेलकम और मुस्तफाबाद में रहते हैं और गरीब परिवारों से आते हैं.

इस मौके पर पूर्वी दिल्ली नगर निगम के नेता प्रतिपक्ष मनोज त्यागी मुख्य अतिथि के तौर पर मौजूद रहे थे. इस मौके पर उन्होंने इस महत्वपूर्ण काम की बहुत सराहना भी की और भविष्य के लिए दोनों संस्थाओं को शुभकामनाएं भी दी. उन्होनें आगे कहा कि “ठेले जिन लोगों को दिए जा रहे हैं उन्हें हर संभव मदद दी जाएगी और वेंडर्स ट्रेनिंग भी हम लोगों की तरफ से की जायेगी”

इसके अलावा इस कार्यक्रम में सोफिया एजुकेशनल वेलफेयर सोसायटी के अध्यक्ष सुहैल सैफी, अहमद नदीम, शकील सैफी और असद शैख़ और मो. एहसान शामिल रहे थे. आईजीएसएस संस्था की तरफ से एडविन चार्ल्स, मो. सैफ और तरुण शामिल रहे थे. इस कार्यक्रम का संचालन कार्य दानिश अय्यूबी द्वारा किया गया. वहीं खास मेहमानों के तौर इस कार्यक्रम में मौलाना आकिल जाहिद हसन, हाजी अब्दुल रहमान आदि मौजूद रहे.