हत्या और यौन शोषण के मामले में रोहतक की सुनारिया जेल में आजीवन कारावास और 20 साल की सजा काट रहा गुरमीत राम रहीम को आज 21 दिन की फरलो मिल गई, जिसके बाद उसे सुनारिया जेल से गुरुग्राम साउथ सिटी स्थित उसके डेरे पर ले जाया गया. हालांकि आरोपी बाबा के जेल से बाहर आने को पंजाब चुनावों से जोड़कर देखा जा रहा है. चूंकि पंजाब में चुनाव हैं और बाबा का पंजाब के कई जिलों में खासा दखल है. ऐसे में विपक्ष ने सरकार को निशाना बनाना शुरू कर दिया है.

हत्या और साध्वी यौन शोषण के मामले में पिछले 4 साल से जेल में बंद गुरमीत राम रहीम आज 21 दिनों की फरलो पर जेल से बाहर आया है. जेल से बाहर आने के बाद गुरमीत राम रहीम को सीधा गुरुग्राम उसके साउथ सिटी स्थित आश्रम में लेकर आया गया. आश्रम में पहुंचने से पहले गुरुग्राम पुलिस की तरफ से सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए.

राम रहीम के परिवार के सदस्य और अनुयायियों का भी आश्रम में आने का तांता लगा रहा. गुरमीत राम रहीम के आश्रम पहुंचने से पहले उसके अनुयाई फूल और फूल मालाओं के साथ उसके स्वागत की तैयारियां भी कर रहे थे. हालांकि आश्रम के गेट के अंदर किसी भी बाहरी व्यक्ति को जाने की अनुमति नहीं दी जा रही थी. आश्रम को पूरी तरह से सुरक्षा के बीच किले के माफिक पुलिस ने सुरक्षा कवच तैयार कर दिया.

मीडिया के कैमरों से मुंह छिपाता रहा बाबा

आश्रम के गेट के बाहर पुलिस की तरफ से बैरिकेटिंग की गई तो जवानों की भी बड़ी संख्या में तैनाती की गई. गुरमीत राम रहीम पुलिस की सुरक्षा के बीच जब 4 बजकर 55 मिनट पर आश्रम पहुंचा तो मीडिया के कैमरों से अपना चेहरा छुपाता हुआ नजर आया. 2017 में पंचकूला सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने गुरमीत राम रहीम को साध्वी यौन शोषण मामले में 20 साल की सजा सुनाई थी इसके अलावा 2019 में पत्रकार छत्रपति की हत्या मामले में भी कोर्ट ने उम्र कैद की सजा सुनाई. जिसके बाद से गुरमीत राम रहीम सुनारिया जेल में बंद था.

मेदांता इलाज के लिए दो बार लाया जा चुका है

कई दफा गुरमीत राम रहीम के वकीलों ने जमानत और पैरोल के लिए याचिका कोर्ट के सामने लगाई थी लेकिन कोर्ट ने याचिकाओं को रद्द कर दिया था. हालांकि बीमारी के चलते गुरुग्राम मेदांता अस्पताल जरूर दो बार गुरमीत राम रहीम को सजा मिलने के बाद  लाया गया था, लेकिन अब हरियाणा सरकार के रहमो करम पर  21 दिन की फरलो पर गुरमीत राम रहीम जेल से बाहर आ गया है. बताया जा रहा है कि गुरुग्राम के साउथ सिटी इसी आश्रम में 21 दिन तक गुरमीत राम रहीम यहां अपने परिवार के सदस्यों के साथ रहने वाला है.

गुरमीत राम रहीम के आश्रम आने के बाद एक दर्जन से ज्यादा गाड़ियों में उसके अनुयाई और परिवार के सदस्य यहां पहुंचे. गुरमीत राम रहीम के साथ इस आश्रम में उसकी मां, पत्नी और बच्चे भी मौजूद हैं.

पत्रकार के बेटा फरलो के खिलाफ जा सकता है हाई कोर्ट

वहीं राम रहीम की इस फरलो से पत्रकार छत्रपति के बेटे अंसुल ने इस फरलो पर कई गंभीर सवाल उठाए है. अंसुल का आरोप है कि पंजाब और पश्चिम यूपी में चुनाओ में फायदा लेने के लिए सरकार ने राम रहीम को फरलो दी है. साथ ही उन्होंने कहा कि वो इस मामले को हाई कोर्ट का रुख करेंगे, ताकि राम रहीम का फरलो कैंसिल करवाया जा सके.