महामारी अलर्ट-सुरक्षित हरियाणा की नई गाइडलाइन के तहत एक फरवरी यानी आज से शिक्षण संस्थान खुलने जा रहे हैं. शिक्षण संस्थान खोलने को लेकर स्कूल-कॉलेजों सहित शिक्षण संस्थानों की ओर से सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. संस्थानों में आने वाले विद्यार्थियों को वैक्सीन लगाने के बाद ही एंट्री होगी. इसके लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा शिक्षण संस्थानों में स्वास्थ्य विभाग की वैक्सीन लगाने की टीमें तैनात रहेंगी.

बता दें कि कोरोना को लेकर करीब एक माह से शिक्षण संस्थान बंद थे. सरकार की हिदायत अनुसार एक फरवरी को शिक्षण संस्थान खोले जाएंगे।. शिक्षण संस्थानों को खोलने से पहले पूरी तरह से सेनेटाइज्ड किया गया है और हिदायत अनुसार पूरी तैयारियां कर ली गई हैं. दो फरवरी को खुलने वाले शिक्षण संस्थानों में कक्षा 9 से ऊपर के विद्यार्थियों, कॉलेज व आईटीआई विद्यार्थियों को बुलाया गया है.

संस्थान मुखियों का कहना है कि वे पूरी तरह से तैयार हैं. कोविड गाइडलाइन का पालन कराने के साथ-साथ फरवरी, मार्च में होने वाली परीक्षाओं से पहले पाठ्यक्रम पूरा कराना उनकी प्राथमिकता रहेगी. एक फरवरी से ऑफलाइन कक्षाओं के लिए अपेक्षित सामाजिक दूरियों के मानदंडों, नियमित स्वच्छता और कोविड-19 के उपयुक्त व्यवहार मानदंडों को अपनाते हुए खोले जाएंगे.

शिक्षा अधिकारियों द्वारा मंथन करते हुए हिदायत अनुसार ही शिक्षण संस्थान खोलने के निर्देश जारी कर दिए हैं. स्कूल प्राचार्य सुरेश यादव व आईटीआई प्राचार्य श्रीभगवान ने संयुक्त रूप से बताया कि शिक्षण संस्थान खोलने की पूरी तैयारियां हैं. सरकार की गाइडलाइन के तहत 15 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के सभी छात्रों को ऑफलाइन कक्षाओं में भाग लेने के दौरान टीकाकरण की कम से कम पहली खुराक लेने की सलाह देंगे.

वैक्सीन लगाने के बाद ही विद्यार्थियों की शिक्षण संस्थानों में एंट्री होगी. इसके साथ ही यह सुनिश्चित करेंगे कि सभी लोग कोविड दिशा-निर्देशों का कड़ाई से पालन करेंगे. शिक्षण संस्थानों में विद्यार्थी सैनिटाइजर, मास्क, पानी की बोतल साथ लेकर आएंगे.