सरकार आज अपनी विमानन कंपनी एयर इंडिया को टाटा के हाथों में सौंप देगी. टाटा समूह ने एयर इंडिया के इस्तकबाल के लिए पूरी तैयारी कर ली हैं. टाटा समूह मुंबई से संचालित होने वाली एयर इंडिया की चार उड़ानों में “उन्नत भोजन सेवा” शुरू करके नई शुरूआत करेगा. हालांकि, एयर इंडिया की उड़ानें गुरुवार से ही टाटा समूह के बैनर तले उड़ान नहीं भरेंगी. क्योंकि आज के दिन कंपनी के ट्रांसफर की प्रक्रिया को पूरा किया जाएगा.

जिस तारीख से एयर इंडिया की सभी उड़ानें टाटा समूह के बैनर तले उड़ान भरेंगी, उसका ऐलान बाद में किया जाएगा.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, भारत सरकार गुरुवार को एयर इंडिया को टाटा समूह को सौंप सकती है. और इस तरह लगभग 69 साल बाद एयर इंडिया की टाटा समूह में वापसी होगी. लेकिन टाटा ग्रुप एयर इंडिया में अपनी सर्विस आज से ही शुरू कर रहा है. इसके लिए चुनिंदा उड़ानों में उन्नत भोजन सर्विस शुरू की जा रही है. उन्नत भोजन सेवा चार उड़ानों – AI864 (मुंबई-दिल्ली), AI687 (मुंबई-दिल्ली), AI945 (मुंबई-अबू धाबी) और AI639 (मुंबई-बेंगलुरु) में गुरुवार को प्रदान की जाएगी. टाटा समूह के अधिकारियों द्वारा तैयार की गई ‘उन्नत भोजन सेवा’ को धीरे-धीरे और अधिक उड़ानों तक विस्तारित किया जाएगा.

18000 करोड़ में खरीदा एयर इंडिया

बता दें कि घाटे में चल रही सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया को टाटा ग्रुप ने 18000 करोड़ रुपये की बोली लगाकर खरीदा था. बीते आठ अक्टूबर को 18,000 करोड़ रुपये में एयर इंडिया को टैलेस प्राइवेट लिमिटेड को बेच दिया था. यह टाटा समूह की होल्डिंग कंपनी का एक हिस्सा है.

Air India के लिए टाटा ग्रुप का प्लान

घाटे में चल रही एयर इंडिया को फिर पटरी पर लाने के लिए टाटा ग्रुप ने कई फ्यूचर प्लान तैयार किए हैं. इनमें से एक है ऑनटाइम परफॉरमेंस. यानी विमान के दरवाजे फ्लाइट टाइम से 10 मिनट पहले बंद हो जाएंगे. विमानों की समय पर उड़ान पर पूरा फोकस किया जाएगा. इसके अलावा यात्रियों की दी जाने वाली सर्विस में भी इजाफा किया जाएगा.