चीन में 4 फरवरी से विंटर ओलंपिक शुरू होने हैं. लेकिन इन खेलों पर कोरोना वायरस का खतरा मंडरा रहा है. कोविड-19 की वजह से विंटर ओलंपिक के लिए बनाए गए 3 गेम्स विलेज की गुरुवार को होने वाली ओपनिंग सेरेमनी को कैंसिल कर दिया गया है. बीते 23 जनवरी से लेकर अब तक विंटर ओलंपिक की तैयारियों से जुड़े कर्मचारियों में कोरोना संक्रमण के 59 नए मामले सामने आ चुके हैं.

बीजिंग शीतकालीन ओलंपिक खेलों का आयोजन 4 से 20 फरवरी तक किया जाएगा. इसके बाद पैरालंपिक गेम्स चार से 13 मार्च तक होंगे. ब्रिटेन, अमेरिका समेत कई पश्चिमी देशों ने चीन पर मानवाधिकार उल्लंघन का आरोप लगाते हुए इन खेलों का कूटनीतिक बहिष्कार किया है. राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग के अनुसार चीन की राजधानी बीजिंग में बीते 24 घंटे में कोरोना वायरस के डेल्टा स्वरूप से संक्रमण के 14 नए मामले सामने आने आए. इसके बाद संक्रमितों की कुल संख्या 50 हो गई. राष्ट्रीय स्तर पर 24 नए केस सामने आए हैं.

बीते 4 जनवरी के बाद से ही इन खेलों में हिस्सा लेने के लिए आए 3 हजार एथलीट्स और सपोर्ट स्टाफ में से 106 की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. इस बीच, बीजिंग के स्थानीय लोगों को कड़े कोविड प्रोटोकॉल और लॉकडाउन का पालन करना पड़ रहा है. बीजिंग के फेंगताई जिले में अचानक प्रशासन ने आधी रात में संदेश जारी कर 20 लाख लोगों का कोरोना टेस्ट कराने का फैसला किया है. यहां पिछले हफ्ते स्थानीय स्तर पर कोरोना संक्रमण के कुछ मामले सामने आए थे.

वहीं, ऐसे स्थानीय सर्दी-खांसी के मरीज जो ओवर द काउंटर ट्रीटमेंट के जरिए दुकानों से दवाईयां लेकर खा रहे हैं. उन्हें भी 3 दिन के भीतर अपना टेस्ट कराने के लिए कहा गया है. चीनी अधिकारी विंटर ओलंपिक से पहले अपनी जीरो कोविड पॉलिसी के तहत वायरस के स्थानीय संक्रमण को रोकने के प्लान पर काम कर रहे हैं. इसके बाजवूद स्थानीय स्तर पर ओमिक्रॉन वैरिएंट के संक्रमण के मामले लगातार सामने आ रहे हैं.