हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल  पर कटाक्ष किया है. विज ने कहा कि केजरीवाल हिंदुस्तान की राजनीति के एक अच्छे ड्रामेबाज हैं. गुमराह करने में केजरीवाल ने पीएचडी कर रखी है. केजरीवाल जिस भी प्रदेश में जाते हैं, वहां लोगों को गुमराह करने के लिए झूठे सच्चे गुब्बारे बेचते हैं. मगर गुब्बारे तो गुब्बारे है आखिर में फट ही जाते हैं.

वहीं हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने राहुल गांधी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि ना जाने उनके कौन से अध्यापक हैं? कौन सिखाता है, कहां से आंकड़े लाते हैं? सब जानते हैं कि पूरे विश्व की अर्थव्यवस्था डगमगाई हुई है, लेकिन मोदी के नेतृत्व में भारत की अर्थव्यवस्था लगातार अच्छी दिशा में बढ़ रही है.

47 मोबाईल अस्पताल तैयार, लोगों तक खुद पहुंचेगा अस्पताल

स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि हरियाणा में स्वास्थ्य सेवाओं को लगातार बेहतर किया जा रहा है. सरकारी अस्पतालों में एमआरआई, सीटी स्कैन, अल्ट्रासाउंड, डायलिसिस की व्यवस्था की गई है. वहीं अस्पतालों में आईसीयू स्थापित किए गए हैं, वेंटिलेटर लाए गए हैं. उनके कार्यकाल में 129 नए संस्थान बने हैं या बनने वाले हैं. विज ने कहा कि अब तक हरियाणा में बिना जरूरत के अस्पतालों का निर्माण हुआ. जहां का एमएलए तगड़ा था उसने धक्के से अस्पताल बनवा लिए. लेकिन अब पूरे हरियाणा की मैपिंग करवाई जा रही है, जहां जितनी जरूरत है उसके मुताबिक अस्पतालों का निर्माण किया जाएगा. उन्होंने बताया कि पिछले दिनों उन्होंने 47 मोबाइल अस्पताल तैयार करवाए हैं, जो लोग अस्पताल नहीं पहुंच सकते अस्पताल उन तक पहुंचेगा.

पहले कोरोना से लड़ाई की थी इस बार भी तैयारी पूरी है- विज

गृह मंत्री ने कहा कि कोरोना से निपटने के लिए पहले भी हमने लड़ाई की हैं और अभी भी हमारी पूरी तैयारी है. उन्होंने प्रदेश की जनता से इसके लिए सहयोग की अपील करते हुए कहा कि गाइडलाइन का पालन करते रहें तभी इस महामारी पर पूरी तरह से काबू पाया जा सकता है.

काबू आने पर किसी भी भ्रष्टाचारी को छोड़ा नहीं जाता- विज

वहीं हरियाणा के निगमों में लगातार बढ़ रहे भ्रष्टाचार को लेकर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि काबू आने पर किसी को भी छोड़ा नहीं जाता. जो भी पकड़ में आता है उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होती है. उन्होंने कहा कि हरियाणा की अनेकों सेवाओं को ऑनलाइन कर दिया गया अब लोगों को दफ्तरों के और बाबू के चक्कर नहीं काटने पड़ते.