सोनू निगम को पद्मश्री पुरस्कार दिया गया है. बॉलीवुड के मशहूर प्लेबैक सिंगर सोनू को कला के क्षेत्र में विशिष्ट योगदान के लिए देश के चौथे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार से सम्मानित किया गया है. गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर पद्म पुरस्कारों की घोषणा की गई. इस पुरस्कार को पाने के बाद खुशी से सराबोर सिंगर ने कहा कि ये दिन मेरे और मेरी फैमिली के लिए बेहद खास है. मैं भारत सरकार का शुक्रिया अदा करता हूं जिन्होंने मुझे इस पुरस्कार के योग्य समझा.

सोनू निगम मां को याद कर हुए भावुक

सोनू निगम ने भारत सरकार के प्रति अपना आभार जताते हुए कहा कि ‘मैं तहे दिल से उन सभी लोगों को धन्यवाद देता हूं जिन्होंने इस प्रतिष्ठित पुरस्कार के लिए मेरा नाम सुझाया. इस खुशी के मौके पर सोनू अपनी मां को याद करते हुए बेहद भावुक हो गए. सिंगर ने कहा कि ‘मैं अपनी मां शोभा निगम, पिता अगम कुमार निगम को धन्यवाद देना चाहूंगा. मैं इस अवॉर्ड को अपनी मां को समर्पित करता हूं. अगर आज मेरी मां होती तो वह बहुत रो रही होतीं’.

सोनू निगम ने अपने गुरुओं को किया नमन

सोनू निगम ने आगे कहा कि ‘इस शानदार अवसर पर मैं अपने गुरुओं को हाथ जोड़कर नमन करता हूं जिन्होंने मुझे इतना सिखाया और इस योग्य बनाया. आज मैं जो कुछ भी हूं वह उनके आशीर्वाद की वजह से ही हूं. इसके अलावा अपने दोस्तों और सहकर्मियों के साथ फैमिली का भी आभार प्रकट करता हूं कि जो मेरे संगीतमय सफर में साथ खड़े रहे’.

सोनू निगम को पहले भी मिल चुका है नेशनल अवॉर्ड

बता दें कि 48 साल के सोनू निगम ने हिंदी समेत कई भाषाओं में गाना गाया है. 2003 में उन्हें ‘कल हो ना हो’ फिल्म के लिए नेशनल अवॉर्ड मिला था. सोनू सिंगर होने के साथ साथ म्यूजिक डायरेक्टर और सेलिब्रिटी जज भी हैं. सोनू बॉलीवुड में सफलता पाने के लिए कड़ी मेहनत की है. इनका बचपन से ही म्यूजिक की तरफ रुझान रहा है.

गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर प्रतिष्ठित पद्म पुरस्कारों की घोषणा की गई. कुल 128 लोगों को इन पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है. भारत सरकार ने हाल ही में पद्म अवॉर्ड 2022 के लिए चुने गए नामों का ऐलान किया था.