गणतंत्र दिवस पर वीरता पुरस्कार पाने वाले वीरों के नाम का ऐलान कर दिया गया है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा इस साल यह पुरस्कार 384 लोगों को दिया जाएगा. टोक्यो ओलंपिक के स्वर्ण पदक विजेता 4 राजपूताना राइफल्स के सूबेदार नीरज चोपड़ा को परम विशिष्ट सेवा पदक से नवाजा जाएगा. 73वें गणतंत्र दिवस के मौके पर जिन 384 पुरस्कारों का ऐलान किया गया है उसमें 12 शौर्य चक्र, 29 परम विशिष्ट सेवा मेडल, 4 उत्तम युद्ध सेवा मेडल 53 अति विशिष्ट सेवा मेडल, 13 युद्ध सेवा मेडल शामिल हैं. इसके अलावा 122 विशिष्ट सेवा मेडल, 81 सेना मेडल (गैलैंट्री), 2 वायु सेना मेडल, 40 सेना मेडल, 8 नौसेना मेडल, 14 वायु सेना मेडल शामिल हैं.

इसके अलावा 189 वीरों को पुलिस मेडल से सम्मानित किया जाएगा. वहीं, विशिष्ट सेवा के लिए 88 वीरों को राष्ट्रपति का पुलिस मेडल (पीपीएम) और 662 को सराहनीय सेवा के लिए पुलिस मेडल (पीएम) दिया जाएगा. 189 वीरता पुरस्कारों में से अधिकांश, 134 कर्मियों को जम्मू और कश्मीर क्षेत्र में उनकी वीरता के लिए सम्मानित किया गया है. 47 कर्मियों को वामपंथी उग्रवाद प्रभावित क्षेत्रों में वीरतापूर्ण कार्रवाई के लिए और 1 व्यक्ति पूर्वोत्तर क्षेत्र में वीरतापूर्ण कार्रवाई के लिए सम्मानित किया जा रहा है.

इतने जवान किए जाएंगे सम्मानित

वीरता पुरस्कार प्राप्त करने वाले कर्मियों में जम्मू-कश्मीर पुलिस से 115, सीआरपीएफ से 30, आईटीबीपी से 3, बीएसएफ से 2, एसएसबी से 3, छत्तीसगढ़ पुलिस से 10, ओडिशा पुलिस से 9 और महाराष्ट्र पुलिस से 7 और शेष अन्य राज्यों/केन्द्र शासित प्रदेशों से हैं.

भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) और सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) को तीन-तीन, जबकि सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) को दो वीरता पदक मिले हैं. 88 जवानों को विशिष्ट सेवा पदक और 662 जवानों को सराहनीय सेवा पदक से नवाजा गया है.

इसके साथ ही 42 जेल कर्मियों को सुधार सेवा मेडल प्रदान किए जाएंगे.

गणतंत्र दिवस के अवसर पर वीरता पुरस्कारों का वितरण किया जाएगा. गणतंत्र दिवस परेड के शुरू होने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पूरे देश की ओर से राष्ट्रीय समर स्मारक पर माल्यार्पण कर सर्वोच्च बलिदान देने वाले सैनिकों को श्रद्धांजलि देंगे. गणतंत्र दिवस पर परेड सुबह 10.30 बजे शुरू होगी और दोपहर 12 बजे संपन्न होगी.