देश के आईपीओ मार्केट में बहार है. अब दिग्गज उद्योगपति गौतम अडानी की अगुआई वाले अडानी ग्रुप की एक कंपनी अडानी विल्मर लिमिटेड यानी एडब्ल्यूएल भी आईपीओ  लाने जा रही है. इस मामले से वाकिफ दो सूत्रों के मुताबिक, कंपनी ने अपने आईपीओ के साइज को 4,500 करोड़ रुपये से घटाकर 3,600 करोड़ रुपये कर दिया है.

फॉर्च्यून तेल बनाती है अडानी विल्मर

सूत्रों ने बताया कि अडानी विल्मर लिमिटेड इसी महीने यानी जनवरी महीने के अंत तक अपना आईपीओ लाने पर विचार कर रही है. बता दें कि अडानी विल्मर एडिबल ऑयल ब्रांड फॉर्च्यून बनाती है. यह कंपनी अहमदाबाद स्थित अडानी ग्रुप और सिंगापुर के विल्मर ग्रुप की ज्वाइंट वेंचर कंपनी है. दोनों की इसमें हिस्सेदारी 50:50 है.

3,600 करोड़ रुपये के फ्रेश इश्यू जारी होंगे

आईपीओ के लिए दाखिल दस्तावेज के मुताबिक, कंपनी ने पहले 4,500 करोड़ रुपये का आईपीओ लाने की योजना बनाई थी. हालांकि अब कंपनी आईपीओ का साइज घटाकर 3,600 करोड़ रुपये कर दिया है. इस आईपीओ के तहत पूरे 3,600 करोड़ रुपये के फ्रेश इश्यू जारी किए जाएंगे और इसमें कोई ऑफ-फॉर-सेल यानी ओएफएस (OFS) नहीं होगा.