रिलायंस इंडस्‍ट्रीज लिमिटेड ने एक और बड़ी डील की है. आरआईएल ने गुजरात सरकार के साथ बृहस्‍पतिवार को एक समझौते (MOU) पर हस्‍ताक्षर किए हैं.  यह एमओयू कुल 5.95 लाख करोड़ रुपये के निवेश का है. यह वाइब्रेंट गुजरात समिट 2022 के लिए इन्वेस्टमेंट प्रमोशन एक्टिविटी का हिस्सा है. इस प्रोजेक्ट के तहत गुजरात में करीब 10 लाख लोगों को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिलेगा.

रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) ने गुरुवार को कहा कि गुजरात को नेट जीरो और कार्बन फ्री राज्य बनाने के लिए कंपनी अगले 10-15 सालों में करीब 5 लाख करोड़ रुपये का निवेश करेगी. कंपनी 100 गीगावॉट के रीन्यूएबल एनर्जी पावर प्लांट और ग्रीन हाइड्रोजन इको-सिस्टम डेवलप करेगी. कंपनी एक इको-सिस्टम डेवलप करेगी, जिसके जरिये एसएमई और एंट्ररप्रेन्योर्स को नई तकनीक व इनोवेशन के जरिये आगे बढ़ने का मौका मिलेगा.

आरआईएल ने शुरू की जमीन की तलाश

आरआईएल की ओर से कहा गया है कि कंपनी की डी-कार्बोनाइजेशन और ग्रीन इको-सिस्टम (Green Eco-System) की पहल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के विजन से प्रेरित है. रिलायंस ने कच्छ, बनासकांठा और धोलेरा में 100 गीगावॉट रीन्यूएबल एनर्जी पावर प्रोजेक्ट के लिए जमीन की तलाश शुरू कर दी है. कंपनी ने प्रशासन से कच्छ में 4.5 लाख एकड़ जमीन की मांग की है.

नए वेंचर्स में 25 हजार करोड़ निवेश करेगी RIL

रिलायंस की ओर से इसके अलावा मौजूदा प्रोजेक्ट्स और नए वेंचर्स में अगले 3 से 5 साल में 25 हजार करोड़ रुपये का निवेश किया जाएगा. कंपनी ने 3 से 5 साल में जियो नेटवर्क को 5G में अपग्रेड करने के लिए 7,500 करोड़ रुपये और रिलायंस रिटेल में 5 साल में 3 हजार करोड़ रुपये का निवेश करने का भी प्रस्ताव दिया है.