रिलायंस रिटेल ने क्विक कॉमर्स फर्म Dunzo में 200 मिलियन डॉलर का निवेश किया है. इस निवेश के साथ ही बेंगलुरु स्थित इस स्टार्टअप में रिलायंस की 25.8 प्रतिशत हिस्सेदारी होगी. Dunzo ने इस राउंड में कुल 240 मिलियन डॉलर की फंडिंग हासिल की है. इस राउंड की फंडिंग में रिलायंस रिटेल के साथ वर्तमान निवेशक लाइटबॉक्स, लाइटरॉक, 3L कैपिटल और अल्टेरिया कैपिटल ने भी भाग लिया.

रिलायंस रिटेल ने कहा है कि इस पूंजी का उपयोग Dunzo के देश के सबसे बड़े क्विक कॉमर्स बिजनेस बनने के दृष्टिकोण को आगे बढ़ाने के लिए किया जाएगा. इसमें माइक्रो-वेयरहाउसेस के नेटवर्क से आवश्यक वस्तुओं की तुरंत डिलीवरी करवाई जा सकेगी. Dunzo भारत के विभिन्न शहरों में स्थानीय व्यापारियों के लिए लॉजिस्टिक्स को सक्षम करने को अपने बी2बी बिजनेस वर्टिकल का भी विस्तार देगी.

रिटेल उपभोक्ताओं को मिलेगा नया अनुभव

रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड की निदेशक ईशा अंबानी ने कहा, “हम ऑनलाइन कंजम्प्शन पैटर्न में बदलाव देख रहे हैं और Dunzo ने इस क्षेत्र में जो काम किया है, उससे बहुत प्रभावित हुए हैं. Dunzo भारत में क्विक कॉमर्स का पायनियर है और हम देश में उसके एक प्रमुख स्थानीय कॉमर्स बनने की महत्वाकांक्षाओं को आगे बढ़ाने में समर्थन करना चाहते हैं.” उन्होंने आगे कहा कि Dunzo के साथ साझेदारी से, रिलायंस अपने रिटेल उपभोक्ताओं को अधिक सुविधा और रिलायंस रिटेल स्टोर्स से उत्पादों की तेजी से डिलीवरी का अनुभव देने में सक्षम होगी. उन्होंने कहा, “हमारे साथ जुड़े व्यापारी अपने बिजनेस की ग्रोथ के नजरिए से Dunzo के हाइपरलोकल डिलीवरी नेटवर्क तक पहुंच बना सकेंगे क्योंकि वे अपने बिजनेस को जियो मार्ट के माध्यम से ऑनलाइन ला रहे हैं.”

Dunzo के CEO कबीर बिस्वास ने ये कहा

Dunzo के को-फाउंडर और सीईओ कबीर बिस्वास ने कहा, “रिलायंस रिटेल के इस निवेश के साथ, हमारे पास एक लॉन्ग-टर्म साझेदार होगा, जिसके साथ हम विकास में तेजी लाने के साथ यह भी परिभाषित कर सकेंगे कि भारतीय अपने दैनिक और साप्ताहिक आवश्यक वस्तुओं (Daily & weekly essentials) की खरीदारी कैसे करते हैं. Dunzo Daily ने अब तक जो प्रसिद्धि हासिल की है, हम उससे उत्साहित हैं और अगले 3 सालों में हमारा लक्ष्य देश का सबसे विश्वसनीय क्विक कॉमर्स प्रोवाइडर बनना है.”