उत्तर प्रदेश के झांसी रेलवे स्टेशन का नाम अब वीरांगना लक्ष्मीबाई रेलवे स्टेशन झांसी होगा. यूपी सरकार ने झांसी रेलवे स्टेशन का नाम वीरांगना लक्ष्मीबाई रेलवे स्टेशन के नाम पर करने अधिसूचना जारी कर दी है. सरकार ने केंद्र सरकार को नाम परिवर्तन का प्रस्ताव भेजा था, इसके बाद गृहमंत्रालय की ओर से भी नाम बदलकर वीरांगना लक्ष्मीबाई किए जाने पर अनापत्ति के साथ मंजूरी मिल गई. इसके बाद अधिसूचना जारी कर दी गई है. रेलवे अधिकारियों की मानें तो रेलवे की कुछ औपचारिकताओं के बाद जल्द ही झांसी रेलवे स्टेशन का नाम वीरांगना लक्ष्मीबाई के नाम पर अधिकारिक रूप से हो जाएगा.

गौरतलब है कि कुछ समय पहले झांसी रेलवे स्टेशन का नाम वीरांगना लक्ष्मीबाई रेलवे स्टेशन करने को लेकर मांग शुरू हुई थी. भाजपा के राज्यसभा सांसद प्रभात झा सहित कई स्थानीय जन प्रतिनिधियों ने कुछ वर्ष पहले झांसी में आयोजित रेलवे की बैठक में झांसी का नाम रानी लक्ष्मीबाई के नाम पर किये जाने की मांग की थी. इसको लेकर उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रस्ताव केंद्र को भेजा था. इसी प्रस्ताव पर गृहमंत्रालय की ओर से मंजूरी मिल गई. इसके बाद उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से झांसी रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर वीरांगना लक्ष्मीबाई किए जाने की अधिसूचना जारी कर दी.

अधिसूचना के बाद अब झांसी रेलवे स्टेशन जल्द ही वीरांगना लक्ष्मीबाई के नाम से जाना जाएगा. झांसी डीआरएम के पीआरओ मनोज सिंह की मानें तो इस प्रक्रिया के बाद अब रेलवे की कुछ औपचारिकताओं के पूर्ण होते ही झांसी रेलवे स्टेशन वीरांगना लक्ष्मीबाई रेलवे स्टेशन के रूप में जाना जाएगा.

बतादें कि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पहले ही तीन प्रमुख स्थानों मुगलसराय, इलाहाबाद और फैजाबाद के नाम बदल कर दीन दयाल उपाध्याय नगर, प्रयागराज, और अयोध्या कर चुकी है. अब इसी कड़ी में योगी सरकार ने झांसी का नाम बदलने का बड़ा फैसला किया. इस नाम परिवर्तन के साथ ही सरकार ने बुंदेलखंड में बड़ा संदेश देने की कोशिश की है.