साल 2021 को अब खत्म होने में सिर्फ 2 ही दिन बाकी है. सभी को नए साल का बेसब्री से इंतजार भी है. इस साल महंगाई ने कई नए रिकॉर्ड बनाए हैं. हालांकि, आपको बता दें कि नया साल भी महंगाई के साथ ही शुरू हो रहा है. अगले महीने यानी साल 2022 से एटीएम से कैश निकालना महंगा पड़ेगा. जी हां… अब कैश निकालना और महंगा होने वाला है.

ग्राहक के एटीएम से तय लिमिट से ज्यादा बार पैसे निकालने के बाद बैंक चार्जेज लगा सकते हैं. RBI के दिशानिर्देशों के अनुसार एक्सिस बैंक या अन्य बैंक के एटीएम में मुफ्त सीमा से ऊपर का फाइनेंशियल ट्रांजेक्शन करने पर 21 रुपये और GST देना होगा. ये संशोधित दरें 1 जनवरी, 2022 से प्रभावी होंगी.

ये है नई लिमिट

अगले महीने से ग्राहकों को मुफ्त लेनदेन की मासिक सीमा से अधिक होने पर 20 रुपये के जगह 21 रुपये प्रति ट्रांजेक्शन पर देने होंगे. आरबीआई ने कहा था कि ज्यादा इंटरचेंज चार्ज और जनरल कॉस्ट बढ़ने के कारण ट्रांजेक्शन पर चार्ज बढ़ाकर 21 रुपये करने की इजाजत दी है.

फ्री में कर सकेंगे 5 ट्रांजैक्शन

ग्राहकों अपने स्वयं के बैंक एटीएम से हर महीने 5 मुफ्त लेनदेन (फाइनेंशियल और नॉन फाइनेंशियल ट्रांजेक्शन) कर पाएंगे. ये वे मेट्रो शहरों में अन्य बैंक के एटीएम से तीन और गैर मेट्रो केंद्रों में पांच मुफ्त लेनदेन भी कर सकेंगे. इसके अलावा RBI ने बैंकों को वित्तीय लेनदेन के लिए प्रति लेनदेन इंटरचेंज शुल्क 15 रुपये से बढ़ाकर 17 रुपये और सभी केंद्रों में गैर वित्तीय लेनदेन के लिए 5 रुपये से 6 रुपये करने की इजाजत दी है.

1 जनवरी से बदल जाएगा डेबिट और क्रेडिट कार्ड से पेमेंट का तरीका

इसके अलावा 1 जनवरी से डेबिट और क्रेडिट कार्ड से पेमेंट करने का तरीका बदल जाएगा. दरअसल, ऑनलाइन पेमेंट को और ज्यादा सुरक्षित बनाने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने नियमों में बदलाव किया है. अब ऑनलाइन पेमेंट करते समय आपको 16 डिजिट वाले डेबिट या क्रेडिट कार्ड नंबर समेत कार्ड की पूरी डिटेल्स भरनी होंगी. यानी अब ऑनलाइन शॉपिंग और डिजिटल पेमेंट के दौरान मर्चेंट वेबसाइट या ऐप आपके कार्ड की डिटेल स्टोर नहीं कर सकते. जो पहले से सेव जानकारी होगी, वह हटा दी जाएगी.