मॉस्को की एक अदालत ने अवैध सामग्री को हटाने में बार-बार विफल होने पर शुक्रवार को गूगल (Google) पर अभूतपूर्व भारी जुर्माना लगाया. रूसी अधिकारियों ने विदेशी तकनीकी दिग्गज पर दबाव डाला था, लेकिन उसका पालन नहीं होने पर कोर्ट ने जुर्माना लगाया. टेलीग्राम पर अदालत की प्रेस सर्विस ने कहा कि अमेरिकी फर्म पर 7.2 बिलियन रूबल, (9.8 करोड़ डॉलर, 8.6 करोड़ यूरो) का जुर्माना लगाया गया.

रूस ने हाल ही में दुनिया की सबसे बड़ी टेक कंपनियों पर अपनी सामग्री को ठीक से मॉडरेट न करने और देश के मामलों में दखल देने का आरोप लगाते हुए उन पर जुर्माना लगाया है.

हालांकि मेटा (फेसबुक), ट्विटर, गूगल (Meta (Facebook), Twitter, Google) और अन्य विदेशी टेक दिग्गजों पर बिलियंस में नहीं बल्कि मिलियन्स रूबल तक जुर्माना लगाया गया. इंटरफैक्स समाचार एजेंसी ने बताया कि जुर्माने की रकम Google की वार्षिक आय के प्रतिशत के आधार पर तय की गई थी.

Meta जिसकी आज बाद में उसी आरोपों पर अदालत में सुनवाई हो रही है. उसको भी रेवन्यू-बेस्ड जुर्माने की चेतावनी दी गई है.