जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज लिमिटेड (ZEEL)और सोनी पिक्चर्स नेटवर्क इंडिया प्राइवेट लिमिटेड (SPNI) अब एक हो रहे हैं. मनोरंजन की दुनिया में दो बड़े घरानों के विलय को बोर्ड की मंजूरी मिल गई है. जी और सोनी के मर्जर में 8 से 10 महीने का वक्त लग सकता है.

दोनों कंपनियों के विलय से मनोरंजन जगत और स्टॉक मार्केट पर बड़ा असर देखने को मिलेगा. इस मर्जर से मार्केट में कंपनी की पोजीशन अच्छी होगी जिससे रेवेन्यू बढ़ने की संभावना है. नई कंपनी को मजबूत मैनेजमेंट मिलेगा. इसका सीधा फायदा शेयरहोल्डर्स को मिलेगा.

बाजार पर असर

मार्केट एक्सपर्ट निवेशकों को ZEEL के शेयर को खरीदने की सलाह दे रहे हैं. एक्सपर्ट ने ZEEL का टारगेट 400-415 रुपए का दिया है. शेयरधारकों को ZEEL के 100 शेयरों के बदले नई कंपनी के 85 शेयर मिलेंगे.

इस मर्जर के बाद 26.7 फीसदी दर्शकों के साथ जी और सोनी देश का सबसे बड़ा एंटरटेनमेंट नेटवर्क होगा. हिंदी सिनेमा में भी इसकी 63 फीसदी हिस्सेदारी होगी.

इस नई कंपनी के पास 75 टीवी चैनल, 2 वीडियो स्ट्रीमिंग सर्विसेज, 2 स्टूडियो और एक डिजिटल कंटेंट स्टूडियो होगा. चर्चा तो ये भी है कि जी और सोनी मिलकर आईपीएल (IPL) के राइट्स लेने पर भी दांव लगा सकते हैं.

जी-सोनी का मर्जर

दोनों ही कंपनी टेलीविजन इंडस्ट्री में लंबे समय से हैं. सोनी पिक्चर्स नेटवर्क्स इंडिया ने भारत में 1995 में अपना पहला टीवी चैनल लॉन्च किया था. और जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज लिमिटेड (ZEEL) ने अपना पहला चैनल ज़ी टीवी 1992 में लॉन्च किया था.

कितना बड़ा नेटवर्क

ज़ी के पास 49 और सोनी के पास 26 टीवी चैनल हैं. दोनों कंपनियों के आपस में मिलने पर नई कंपनी के पास कुल 75 चैनल हो जाएंगे. ज़ी 173 देशों में मौजूद है और दुनियाभर में 1.3 अरब लोगों तक इसकी पहुंच है. वहीं, सोनी की पहुंच 167 देशों में 70 करोड़ लोगों तक है.