छले तीन दिनों से बर्फीली हवाओं  के चलने और तापमान में गिरावट की वजह से वाराणसी और कानपुर में आम जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है. सुबह शाम पड़ रही कड़ाके की ठंड से लोग घरों में दुबकने को मजबूर हैं. इस बीच मौसम विभाग ने शीतलहर की चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि अगले तीन-चार दिन तक तापमान में और गिरावट देखने को मिल सकती है. मौसम विभाग की चेतावनी के बाद वाराणसी और कानपुर के डीएम ने इंटर तक के सभी स्कूलों  को दो दिनों तक बंद रखने का आदेश दिया है. यूपी बोर्ड, सीबीएसई, आईसीएसई सहित सभी बोर्ड के विद्यालय दो दिन 23 और 24 दिसंबर को बंद रहेंगे.

वाराणसी डीएम कौशल राज शर्मा ने बताया कि मौसम विभाग की चेतावनी के के बाद जिले के सभी स्कूल 23 और 24 दिसंबर को बंद रहेंगे. उन्होंने अधिकारीयों को निर्देशित किया है कि आदेशों का सख्ती से पालन किया जाये. उधर जिलाधिकारी कानपुर ने भी ट्वीट कर लिखा, ‘अत्यधिक ठण्ड व शीतलहर के दृष्टिगत जनपद कानपुर नगर के कक्षा-12 तक के सभी सरकारी एवं निजी शिक्षण संस्थान दिनांक 23 व 24, दिसम्बर को बन्द रखने के निर्देश दिए गए हैं.’

यूपी में जारी है शीतलहर का कहर

उत्तर प्रदेश में शीतलहर ने जोर पकड़ा है. कई शहरों का पारा तेजी से नीचे ​गिरा है. सूबे के 9 शहरों में रात का न्यूनतम तापमान सोमवार की आधी रात 5 डिग्री सेल्सियस के नीचे चला गया. सर्दी में यूपी शिमला और मसूरी को भी पीछे छोड़ रहे हैं. यूपी के 9 शहरों में तापमान शिमला से कम दर्ज किया गया है. ठण्ड तापमान मुजफ्फरनगर 2.2 डिग्री सेल्सियस, मेरठ 2.8 डिग्री सेल्सियस, शाहजहांपुर और नजीबाबाद 4 डिग्री सेल्सियस, कानपुर 4.4 डिग्री सेल्सियस और वाराणसी में 4.8 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया. शाम ढ़लते ही हाड़ कंपाने वाली ठण्ड शुरु हो जा रही है. जैसे- जैसे रात ढ़लती जाती है वैसे- वैसे सर्दी का सितम चढ़ता जाता है.