देश में तेजी से बढ़ रहे ओमिक्रॉन के खतरे को देखते हुए कई राज्‍यों की सरकारें अब अलर्ट मोड में आ गई हैं. कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए इस साल भी क्रिसमस और नए साल  के सेलिब्रेशन पर ब्रेक लगा दिया गया है. कई राज्‍यों ने अभी से कई सख्‍त नियमों को मंजूरी दे दी है जबकि कुछ अन्‍य राज्‍य बहुत जल्‍द इस पर फैसला लेने वाले हैं. बता दें कि देश में ओमिक्रॉन के मामले बढ़कर अब 161 हो गए हैं. लगातार बढ़ रहे ओमिक्रॉन के खतरे को देखते हुए गुजरात ने अपने 8 प्रमुख शहरों में जहां 31 दिसंबर की रात नाइट कर्फ्यू लगा दिया है, वहीं मुंबई पुलिस  ने पूरे शहर में 31 दिसंबर तक धारा 144 लगा दी है और बीएमसी ने भी ढील देते हुए कोरोना नियम बनाए हैं.

नए साल के मौके पर मुंबई में हर साल देर रात तक पार्टी चलती है और लोग भी देर रात तक सड़कों पर नए साल का जश्न मनाते दिखते हैं. पिछले साल कोरोना की वजह से सब कुछ बंद था. इस साल कोरोना के कम होते मामलों को देखते हुए हर कोई नए साल का जश्‍न मनाने की तैयारी में जुटा हुआ है. हालांकि ओमिक्रॉन के खतरे को देखते हुए मुंबई पुलिस ने पूरे शहर में 31 दिसंबर तक धारा 144 लगा दी है और बीएमसी ने भी ढील देते हुए कोरोना नियम बनाए हैं.

हॉल और होटल में सिर्फ 50% लोग ही जमा हो सकते हैं

मुंबई की मेयर किशोरी पेड़णेकर का कहना है कि क्रिसमस और नए साल के मौके पर हमने कुछ गाइडलाइन जारी की है, जिसमें किसी भी होटल या हॉल में सिर्फ 50% लोग की जमा हो सकते है. इसके साथ ही सभी को कोविड के नियमों का पालन करना जरूरी होगा.

गुजरात के 8 प्रमुख शहरों में नाइट कर्फ्यू लगाया गया

ओमिक्रॉन के खतरे को देखते हुए गुजरात के अहमदाबाद, राजकोट, सूरत, वडोदरा, जामनगर, भावनगर, गांधीनगर और जूनागढ़ में साल के अंत तक यानी 31 दिसंबर 2021 की रात तक नाइट कर्फ्यू लगाया गया है. नाइट कर्फ्यू का समय रात 1 बजे से सुबह 5 बजे तक रहेगा. गुजरात में रविवार को ओमीक्रोन वैरिएंट के चार नए मामले पाए गए, जिससे राज्य में ओमीक्रोन वैरिएंट से संक्रमित लोगों की संख्या 11 हो गई है.