देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने ग्राहकों की सुरक्षा के लिए नियमों में बदलाव किए हैं. नए नियम के मुताबिक अब स्टेट बैंक की योनो एप्लीकेशन पर ग्राहक सिर्फ उसी फोन से लॉग-इन कर सकते हैं जो नंबर बैंक अकाउंट के साथ रजिस्टर्ड होगा. इस नियम के बाद आप किसी भी फोन नंबर से बैंक की सर्विस नहीं ले सकते. बैंक का कहना है कि इस कदम से ऑनलाइन बैंकिंग फ्रॉड से ग्राहकों को बचाया जा सके.

ऑनलाइन फ्रॉड के बढ़ते मामले को देखते हुए एसबीआई ने योनो ऐप में यह नया अपग्रेड किया है. इससे ग्राहकों का ट्रांजैक्शन पहले से ज्यादा सिक्योर होगा और वे ऑनलाइन फ्रॉड के शिकार होने से बचेंगे.

एसबीआई ने जानकारी दी है कि ग्राहक नए रजिस्ट्रेशन के लिए उसी फोन का इस्तेमाल करें जिसमें उनका बैंक के साथ रजिस्टर्ड है. अब इस नए नियम के तहत आप एप को किसी भी फोन के जरिए लॉग इन नहीं कर सकते हैं, जबकि पहले कस्टमर्स किसी भी फोन से लॉग इन कर सकते थे.

SBI का नया अपडेट

एटीएम धोखाधड़ी की बढ़ती घटनाओं को देखते हुए भारतीय स्टेट बैंक ने एटीएम ऑपरेशन की सिक्योरिटी को अपग्रेड किया है. इस अपग्रेड के बाद आप जब एटीएम से 10 हजार या उससे अधिक रुपये निकालने जाएंगे तो बैंक की तरफ से आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा, जिसे एटीएम मशीन में टाइप करना होगा. ओटीपी दर्ज करने बाद ही आप एटीएम से रुपये निकाल सकेंगे. जबकि 9,999 या इससे कम रुपये निकालने वाले ओटीपी नहीं बताना होगा.