दिल्‍ली में आज यानी 18 दिसंबर से कक्षा 6 से 12 तक के स्कूल खुल गए हैं. इस दौरान दिल्ली के सादिक नगर स्थित सर्वोदय बाल विद्यालय के एक छात्र ने कहा कि ऑनलाइन क्लास में सभी बच्चे उपस्थित नहीं रह पा रहे थे, नेटवर्क की समस्या रहती थी. स्कूल आकर बहुत अच्छा लग रहा है. जबकि प्राइमरी स्कूलों में बच्चों को 27 दिसंबर से बुलाया जाएगा. इस बात का फैसला शुक्रवार को वायु गुणवत्ता आयोग और एक्सपर्ट्स की बैठक में लिया गया है. वहीं, वायु गुणवत्ता एवं मौसम पूर्वानुमान और अनुसंधान प्रणाली (SAFAR) के मुताबिक, दिल्ली में शनिवार को वायु गुणवत्ता सूचकांक 319 है, जो कि बहुत खराब श्रेणी में है.

वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग (सीएक्यूएम) ने शुक्रवार को दिल्ली-एनसीआर में अधिकारियों को कक्षा 6 और उससे ऊपर के छात्रों के लिये स्कूल खोलने के साथ कॉलेजों व अन्य शैक्षणिक संस्थानों में तत्काल प्रभाव से कक्षाएं शुरू करने की अनुमति दी है. इसके साथ केंद्र के प्रदूषण नियंत्रण निकाय ने कहा कि पांचवीं कक्षा तक के छात्रों के लिए 27 दिसंबर से प्रत्यक्ष रूप से कक्षाएं शुरू की जा सकती हैं. आयोग ने कहा कि उसे स्कूलों और शैक्षणिक संस्थानों को खोलने के बारे में बड़ी संख्या में ज्ञापन प्राप्त हुए थे. ऐसे में उच्चतम न्यायालय के निर्देशों के बाद आयोग ने प्रतिबंधों में ढील देने के संबंध में विभिन्न संगठनों से मिले अनुरोधों पर गौर किया है.

बता दें कि क‍ि द‍िल्‍ली सरकार के श‍िक्षा व‍िभाग की ओर से मांग की गई थी कि 8वीं से लेकर बड़ी कक्षाओं के छात्रों के लिए स्कूल-कॉलेज, कोचिंग सेंटर तत्काल खोले जाएं. वहीं, प्राइमरी से पांचवी कक्षा तक के स्कूल 20 दिसंबर से खोलने का प्रस्ताव दिया था. लेक‍िन अब वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग ने दिल्ली में स्‍कूलों को चरणबद्ध तरीके से खोलने की इजाजत दे दी है.

कोविड गाइडलाइंस का रखना होगा पूरा ध्‍यान

वहीं, ओमिक्रॉन के खतरे को ध्‍यान में रखते हुए दिल्‍ली के स्‍कूलों में कोविड गाइडलाइंस का सख्‍ती से पालन करना होगा. स्‍टूडेंट्स को फेस मास्‍क हर समय पहन कर रखना होगा. इसके अलावा सोशल डिस्‍टेंसिंग का ध्‍यान रखने के अलावा प्‍लेग्राउंड में गैदरिंग की मनाही है. वहीं, स्‍कूल के स्‍टाफ का वैक्सीनेशन अनिवार्य है और पूरे परिसर के सैनिटाइजेशन के बाद ही क्‍लासेज शुरू करने का नियम है.

दिल्‍ली में ओमिक्रॉन के मामले बढ़े

दिल्ली में कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ‘ओमिक्रॉन’ के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. शुक्रवार को 12 नए मामले सामने आने के साथ अब तक कुल मरीजों की संख्या बढ़कर 22 हो गई. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बताया कि 22 मरीजों में से 10 को छुट्टी मिल चुकी है. एलएनजेपी अस्पताल के एक वरिष्ठ डॉक्टर ने बताया कि ज्यादातर मरीजों का टीकाकरण हो चुका है और उनमें संक्रमण के लक्षण नहीं हैं.