देश के सार्वजनिक क्षेत्र के दूसरे सबसे बड़े बैंक पंजाब नेशनल बैंक और प्राइवेट सेक्टर के आईसीआईसीआई बैंक को बड़ा झटका लगा है. दरअसल, भारतीय रिजर्व बैंक ने नियमों के उल्लंघन के लिए दोनों पर जुर्माना लगाया है. केंद्रीय बैंक ने बुधवार को पंजाब नेशनल बैंक पर 1.80 करोड़ रुपये और आईसीआईसीआई बैंक लिमिटेड पर 30 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है.

क्‍यों लगाया गया जुर्माना?

पंजाब नेशनल बैंक के लिए आरबीआई ने कहा कि कार्रवाई रेगुलेटरी कंपलाइंस में कमियों के चलते की गई है और बैंक की तरफ से अपने ग्राहकों के साथ किए गए किसी भी लेनदेन या समझौते की वैधता पर इसका कोई असर नहीं होगा. वहीं, आईसीआईसीआई बैंक पर 20 नवंबर 2014 को ‘सेविंग्स बैंक अकाउंट में मिनिमम बैलेंस नहीं रखने पर पैनल्टी चार्ज लगाने’ पर आरबीआई की तरफ से जारी कुछ निर्देशों का पालन न करने पर जुर्माना लगाया गया है.

केंद्रीय बैंक ने जांच कर भेजा नोटिस

केंद्रीय बैंक ने कहा, ”बैंक के इंस्पेक्शन सुपरवाइजर इवैल्यूएशन के लिए 31 मार्च 2019 को उसकी फाइनेंशियल पॉजिशन के संदर्भ में आरबीआई ने एक इंस्पेक्शन किया गया और रिस्क इवैल्यूएश रिपोर्ट की जांच, जुलाई 2020 के दौरान आरबीआई की तरफ से वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए एक्सपोजर मैनेजमेंट उपायों के कार्यान्वयन की सालाना समीक्षा और उससे जुड़े सभी दस्तावेज देखे.” केंद्रीय बैंक ने पीएनबी को एक नोटिस जारी किया गया था. बैंक की तरफ से दाखिल किए गए जवाब और सुनवाई के बाद भारतीय रिजर्व बैंक ने जुर्माना लगाने का फैसला किया.

सुनवाई के बाद बैंकों पर लगाया जुर्माना

रिजर्व बैंक ने कहा, ”आरबीआई की तरफ से 31 मार्च 2019 आईसीआईसीआई बैंक की फाइनेंशियल पॉजिशन के संदर्भ में इंस्पेक्शन सुपरवाइजर इवैल्यूएशन (ISE) किया गया और रिस्क असेसमेंट रिपोर्ट, इंस्पेक्शन रिपोर्ट और उससे जुड़े संबंधित पत्राचार की जांच की गई थी.” आरबीआई ने पीएनबी को एक नोटिस जारी किया गया था. बैंक की तरफ से दाखिल किए गए जवाब और सुनवाई के बाद आरबीआई ने जुर्माना लगाने का फैसला किया.