विश्व स्वास्थ्य संगठन ने मंगलवार को चेतावनी दी कि ओमिक्रोन तेजी से फैल रहा है. WHO के प्रमुख टेड्रोस ए घेब्रेयेसस ने कहा कि इस स्ट्रेन के मामले 77 देशों में आए. यह ‘शायद’ अधिकांश देशों में फैल गया है. यह जितनी तेजी से फैला है वैसा पिछले वेरिएंट के साथ नहीं था.’ ओमिक्रॉन, पहली बार दक्षिण अफ्रीका में सामने आया था.  24 नवंबर को इस वेरिएंट के बारे में डब्ल्यूएचओ को जानकारी दी गई थी. शुरुआती आंकड़ों से पता चलता है कि यह टीकों को चकमा दे सकता है इसके साथ ही यह डेल्टा वेरिएंट की तुलना में अधिक संक्रामक है. बता दें डेल्टा वेरिएंट भारत में कोरोना की दूसरी लहर के लिए जिम्मेदार माना जाता है.

उधर ओमिक्रॉन के चलते डच प्राइमरी स्कूल जल्दी बंद हो जाएंगे क्योंकि यूरोप में संक्रमण के चलते अस्पतालों पर बोझ बढ़ सकता है. दूसरी ओर ब्रिटिश प्रधान मंत्री बोरिस जॉनसन से मांग की गई है कि ओमिक्रॉन के मद्देनजर नए प्रतिबंध लगाए जाएं.

भारत में क्या है हाल?

दूसरी ओर भारत की राजधानी दिल्ली में मंगलवार को कोरोना वायरस के ओमीक्रोन वेरिएंट के चार नए मामले जबकि महाराष्ट्र में इस वेरिएंट के आठ नए मामले सामने आए. इसके साथ ही देश में ओमीक्रोन वेरिएंट के मामलों की संख्या बढ़कर 61 तक पहुंच गई है. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने मंगलवार को कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में चार और लोग कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमीक्रोन से संक्रमित पाए गए हैं तथा ये सभी हाल में विदेश यात्रा कर चुके हैं. जैन ने कहा, ‘अब तक राजधानी में छह लोग ओमीक्रोन से संक्रमित पाए जा चुके हैं. उनमें से एक को छुट्टी दे दी गई है. उन सभी ने विदेश यात्रा की थी और उन्हें (इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय) हवाई अड्डे से लोक नायक जय प्रकाश नारायण (एलएनजेपी) अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया.’

इस बीच, अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली में कोरोना वायरस के ओमीक्रोन वेरिएंट से संक्रमित पाए गए पहले व्यक्ति को एलएनजेपी अस्पताल से छुट्टी मिल गई है. वहीं, महाराष्ट्र के स्वास्थ्य विभाग ने मंगलवार को कहा कि राज्य में ओमीक्रोन वेरिएंट के आठ नए मामले दर्ज किए गए और इनमें से किसी भी मरीज ने हाल में विदेश यात्रा नहीं की है.

स्वास्थ्य विभाग ने एक बुलेटिन में बताया कि नए मामलों के साथ ही सार्स-सीओवी-2 के नए वेरिएंट से संक्रमित होने वालों की संख्या राज्य में बढ़कर 28 हो गई है. इनमें से सात मामले मुंबई में सामने आए हैं और संक्रमितों में तीन महिलाएं शामिल हैं. स्वास्थ्य बुलेटिन में कहा गया, ‘(पुणे स्थित) राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान (एनआईवी) द्वारा आज दी गई रिपोर्ट के अनुसार, राज्य में आठ और मरीज ओमीक्रोन से संक्रमित पाए गए. इनमें से सात मरीज मुंबई के हैं और एक मरीज वसई-विरार (मुंबई की एक छोटी बस्ती) का है.’