किसान आंदोलन खत्म होते ही अब जनता की जेब पर बोझ पड़ने वाला है. एक साल तक जीटी रोड पर हरियाणा-पंजाब में जो टोल बंद थे अब वो चालू होना शुरू हो चुके हैं. जिसकी पहली तस्वीर अंबाला के शंभू टोल प्लाजा से सामने आई है. जहां पर किसान आंदोलन खत्म होते ही टोल शुरू कर दिया गया है और टैक्स के रेट में भी बढ़ोतरी भी की गई है.

बता दें कि कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों ने एक साल पहले हरियाणा-पंजाब के सभी टोल प्लाजा को बंद किया था. अब किसान आंदोलन खत्म होते ही एक साल बाद जनता की जेब पर फिर से बोझ पड़ने वाला है. पहली तस्वीर हरियाणा-पंजाब के बॉर्डर पर स्थित शंभू बॉर्डर से सामने आई है जहां पर टोल चालू हो चूका है. शंभू टोल प्लाजा पर आज वाहनों की लंबी लंबी कतारे देखने को मिली.

मज़बूरी में टोल देना पड़ेगा

लोगों का कहना है कि यह अच्छी बात है कि किसान आंदोलन खत्म हो गया है. लेकिन अब उन्हें अगर सफर करना है तो मज़बूरी में टोल देना पड़ेगा. वहीं ट्रक और बस के टैक्स रेट में 5-5 रूपये की बढ़ोतरी की गई है, जिसको लेकर ट्रक चालकों का कहना है कि यह उनके साथ नाइंसाफी है.

5-5 रुपये की बढ़ोतरी की गई

वहीं टोल मैनेजर ने जानकारी देते हुए बताया कि पंजाब से लेकर अंबाला के लिए 3 लाइन चालू की गई है. तो वहीं अंबाला से पंजाब के लिए 6 लाइन चालू की गई है. उन्होंने बताया कि ट्रक और बस के टैक्स रेट में 5-5 रुपये की बढ़ोतरी की गई है. वहीं किसानों ने अपनी जीत की ख़ुशी में शंभू टोल प्लाज़ा से गुजर रहे लोगों को लड्डू बांटे और उनका धन्यवाद किया.