भारत ने सोमवार को यहां दूसरे और अंतिम टेस्ट क्रिकेट मैच के चौथे दिन न्यूजीलैंड को 372 रन से करारी शिकस्त देकर दो मैचों की सीरीज 1-0 से जीती. न्यूजीलैंड की टीम 540 रन के मुश्किल लक्ष्य का पीछा करते हुए अपनी दूसरी पारी में 167 रन पर आउट हो गई. भारत ने अपनी पहली पारी में 325 रन बनाए थे, जिसके जवाब में न्यूजीलैंड की टीम 62 रन पर सिमट गई थी. भारत ने अपनी दूसरी पारी सात विकेट पर 276 रन पर समाप्त घोषित की थी. दोनों टीम के बीच कानपुर में खेला गया पहला टेस्ट मैच ड्रॉ छूटा था. यह भारतीय क्रिकेट टीम की घर में लगातार 14वीं टेस्ट सीरीज जीत है. वहीं, साथ ही यह टेस्ट क्रिकेट में भारत की सबसे बड़ी जीत है. इससे पहले 337 रन की थी, जो 2015 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ आई थी.

पहली पारी में 325 और दूसरी पारी में भारत ने बनाए 276 रन

भारत ने न्यूजीलैंड के सामने 540 रन का विशाल लक्ष्य रखने के बाद तीसरे दिन उसके पांच विकेट चटकाकर दूसरे और अंतिम टेस्ट क्रिकेट मैच में रविवार को यहां बड़ी जीत की तरफ कदम बढ़ा दिए थे. न्यूजीलैंड ने तीसरे दिन का खेल समाप्त होने तक अपनी दूसरी पारी में पांच विकेट पर 140 रन बनाए थे. अपनी पहली पारी में 325 रन बनाने वाले भारत ने अपनी दूसरी पारी सात विकेट पर 276 रन पर समाप्त घोषित की. न्यूजीलैंड की टीम पहली पारी में केवल 62 रन पर आउट हो गई थी.

भारतीय गेंदबाजों के सामने नहीं टिक पाया न्यूजीलैंड

न्यूजीलैंड के बल्लेबाज सहजता से बल्लेबाजी नहीं कर पाए. डेरेल मिचेल ने जरूर 92 गेंदों पर 60 रन की पारी खेली. स्टंप उखड़ने के समय हेनरी निकोल्स 36 और रचिन रविंद्र दो रन पर खेल रहे थे. भारत की तरफ से ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने 27 रन देकर तीन और बाए हाथ के स्पिनर अक्षर पटेल ने 42 रन देकर एक विकेट लिया है. अश्विन ने कार्यवाहक कप्तान और अपने प्रिय शिकार टॉम लैथम (06) को चाय के विश्राम से पहले एलबीडब्ल्यू आउट किया, जिसमें बल्लेबाज ने ‘रिव्यू’ भी गंवाया. यह आठवां अवसर है जबकि अश्विन ने लैथम को पवेलियन भेजा.

अश्विन ने बनाए खास रिकॉर्ड

अश्विन ने चायकाल के बाद दूसरे सलामी बल्लेबाज विल यंग (20) को शार्ट लेग पर कैच कराया. विराट कोहली का ‘रिव्यू’ लेने का फैसला तब सही साबित हुआ था. अश्विन का इस वर्ष यह 50वां टेस्ट विकेट था. किसी एक कैलेंडर वर्ष में चौथी बार उन्होंने 50 से अधिक विकेट लिए जो कि भारतीय रिकॉर्ड है. न्यूजीलैंड के सबसे अनुभवी बल्लेबाज रोस टेलर (छह) ने अपना विकेट इनाम में दिया. वह अश्विन की ऑफ ब्रेक को नहीं समझ पाये और उसे हवा में लहरा बैठे.